मध्यप्रदेश सरकार ने पुनः शुरू की कोरोना योद्धा योजना, मिलेगा 50 लाख की सम्मान निधि

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वास्थ्य कर्मियों के परिवारों को सरकार की ओर से 50 लाख रुपये की सम्मान निधि दी जाएगी

Updated: Apr 30, 2021, 08:25 AM IST

मध्यप्रदेश सरकार ने पुनः शुरू की कोरोना योद्धा योजना, मिलेगा 50 लाख की सम्मान निधि
Photo courtesy: patrika

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को स्वास्थ्य कर्मियों को संबोधित करते हुए कोरोना योद्धा योजना फिर से चालू करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसे विकट संकट में जान हथेली पर रखकर प्रदेश के स्वास्थ्यकर्मी दिन-रात जनता की सेवा कर रहे हैं। डॉक्टर सचमुच में भगवान होते हैं। वे मरीजों की जान बचाते हैं। कार्य करते-करते हमारे जो स्वास्थ्यकर्मी दिवंगत हो जाएंगे, उनके परिवार की देखरेख शासन की जिम्मेदारी होगी। उनके परिवारों को सरकार की ओर से 50 लाख रुपये की सम्मान निधि दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य कर्मियों से कहा कि समाज पर आपका यह ऋण नहीं भूलेगा। आप कोरोना के संक्रमण से स्वयं को बचाते हुए दूसरों को संक्रमण मुक्त करने का कार्य ऐसे ही करते रहें। सीएम शिवराज ने स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल बढ़ते हुए कहा मध्य प्रदेश में लगभग 99 फीसद कोरोना मरीज स्वस्थ हो रहे हैं। कोरोना मृत्यु दर 1% से थोड़ी ज्यादा है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकारी अस्पताल ग़रीब लोगों का सहारा बना हुआ हैं।उन्होंने कहा  यहां अच्छे से अच्छा इलाज मरीजों को उपलब्ध कराया जा रहा है। जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन लाइन बिछाई जा रही है। प्रदेश में व्यापक पैमाने पर ऑक्सीजन के प्लांट लगाए जा रहे हैं।
मरीजों का मनोबल बढ़ाते रहें, मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉक्टर एवं स्वास्थ्य कर्मी स्वयं का मनोबल टूटने न दें तथा मरीजों का मनोबल बढ़ाएं। मरीजों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी फोन, वीडियो कॉल आदि के माध्यम से उनके परिजनों को निरंतर देते रहें।

शिवराज ने कहा कि डाक्टर मरीजों की हर तरह से सेवा कर रहे हैं। वैक्सीन लगाने के लिए घर घर जा रहे हैं। होम आइसोलेट में रह रहे लोगो की मदद कर रहे हैं।
कोविड़ केयर सेंटर में सेवाएं कर रहे हैं। चार स्तर पर मरीज़ो की सेवा उनके द्वारा की जा रही है।


योजना से लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, आयुष विभाग के सभी सफाई कर्मचारी, वॉर्ड ब्वाय, नर्स, आशा कार्यकर्ता, पैरामेडिक्स, तकनीशियन, डॉक्टर, विशेषज्ञ और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता लाभान्वित होंगे। इसके अलावा नगरीय विकास के सभी सफाईकर्मी, राजस्व, गृह, नगरीय विकास विभाग, शहरी और स्थानीय निकायों सहित अन्य उन विभाग के कर्मी जो कोविड-19 महामारी की रोकथाम में अपनी सेवाएं प्रदान करने के लिए राज्य सरकार के सक्षम प्राधिकारी द्वारा अधिकृत हैं, वे पात्र होंगे।

गौरतलब है कि राज्य शासन ने 'मुख्यमंत्री कोरोना योद्धा कल्याण योजना को 1 अप्रैल 2021 से 31 मई, 2021 तक की अवधि के लिये पुन: लागू किया है। पूर्व में यह योजना 31 अक्टूबर, 2020 तक लागू की गई थी ।