फेसबुक पर छलका अपनों को खोने का दर्द, BJP नेता ने शिवराज को बताया निकम्मा मुख्यमंत्री

मैं आपकी ही पार्टी का नूनसर मंडल अध्यक्ष बोल रहा हूं, हमारे मध्यप्रदेश के निकम्मे मुख्यमंत्री, मैने अपनों को मरते देखा है, बीजेपी नेता ने शिवराज सरकार की खोली पोल

Updated: Apr 18, 2021, 06:50 PM IST

फेसबुक पर छलका अपनों को खोने का दर्द, BJP नेता ने शिवराज को बताया निकम्मा मुख्यमंत्री
Photo Courtesy: Twitter

जबलपुर। मध्यप्रदेश में कोरोना ने कोहराम मचा दिया है। श्मशान और कब्रिस्तान में पड़ी लाशें हर दिन सरकारी दावों के झूठे होने की दास्तान सुना रही है। इसी बीच मध्यप्रदेश बीजेपी के ही एक नेता ने अपनी पार्टी के मुख्यमंत्री को निकम्मा करार दिया है। बीजेपी नेता ने फेसबुक पोस्ट लिखकर कहा है कि शिवराज सिंह चौहान एक निकम्मे मुख्यमंत्री हैं। इस फेसबुक पोस्ट में बीजेपी नेता के अपनों को खोने के दर्द और रेमडेसीवीर वैक्सीन न दिला पाने की बेबसी महसूस की जा सकती है।

सीएम शिवराज की विफलताओं को लेकर बोलने वाले बीजेपी नेता अजय पटेल जबलपुर के पाटन विधानसभा क्षेत्र के नूनसर मंडल के मौजूदा अध्यक्ष हैं। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'हमारे मध्यप्रदेश का निकम्मा मुख्यमंत्री मैं खुद मंडल अध्यक्ष होते हुए उसका विरोध करता हूं चाहे जो भी हो क्यों क्योंकि मैने अपनों को मरते हुए देखा है।' पटेल ने आगे लिखा, 'माननीय शिवराज सिंह चौहान जी मैं आपकी ही पार्टी का मंडल अध्यक्ष नूनसर बोल रहा हूं की मैं अपने परिवार के लिए यदि इंजेक्शन की व्यवस्था नहीं कर पा रहा हूं तो मैं इसको अपनी नाकामी मानूं या सरकार की?'

यह भी पढ़ें: कोरोना का कोहराम जारी! रिकॉर्ड 2.61 नए मामले, 1501 लोगों की मौत, एक्टिव केस 18 लाख के पार

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने भी इसे लेकर सीएम शिवराज पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा है कि कमोबेश यह दर्द प्रदेश के करोड़ों लोगों का है। मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता केके मिश्रा ने ट्वीट किया, 'CM शिवराज जी,आपके ही दल के नूनसर (जबलपुर) के मर्माहत मंडल अध्यक्ष श्री अजय पटेल ने अपने कई करीबियों को खो देने के बाद आपको "निकम्मा" कहने में कोई कोताही नहीं की है! CM सा.कमोबेश यह दर्द प्रदेश के करोड़ों लोगों का है, स्थिति संभालिये या घर बैठिए।'

बता दें कि हाल ही में शिवराज कैबिनेट के पूर्व मंत्री और पाटन विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक अजय विश्नोई ने अपनी ही सरकार पर कोरोना के दौर में भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। विश्नोई ने मध्यप्रदेश की तुलना महाराष्ट्र से करते हुए कहा था कि वहां मध्यप्रदेश से 10 गुना ज्यादा केस होने के बावजूद ऑक्सीजन की खपत मध्यप्रदेश से कम है। कांग्रेस ने भी विश्नोई के दावों के आधार पर ऑक्सीजन के घोटाले का आरोप लगाया था।