मंदसौर में ब्राउन शुगर के साथ पकड़े गए आरोपी की पुलिस कस्टडी में संदिग्ध मौत

शुक्रवार को मंदसौर पुलिस के नारकोटिक्स विंग ने एक युवक को 90 ग्राम ब्राउन शुगर के साथ पकड़ा था, मृतक युवक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस युवक से 50 लाख रुपए की मांग कर रही थी

Updated: Apr 03, 2021, 07:43 PM IST

मंदसौर में ब्राउन शुगर के साथ पकड़े गए आरोपी की पुलिस कस्टडी में संदिग्ध मौत

मंदसौर। मंदसौर पुलिस द्वारा 90 ग्राम ब्राउन शुगर के साथ पकड़ाए आरोपी की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई। 21 वर्षीय सोहेल को ब्राउन शुगर के साथ मंदसौर पुलिस की नारकोटिक्स विंग ने गिरफ्तार किया था। लेकिन पुलिस कस्टडी में सोहेल की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत से कई सवाल खड़े हो गए हैं। सोहेल के परिजनों ने पुलिस पर सोहेल को टॉर्चर करने का आरोप लगाया है। फिलहाल इस मामले में संबंधित अधिकारियों को निलंबित कर न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं।   

यह भी पढ़ें : भोपाल: कोरोना के सैंपलों में हर पांचवां व्यक्ति मिल रहा है कोरोना पॉज़िटिव, 20 फीसदी के पार हुआ संक्रमण दर

दरअसल मंदसौर पुलिस की नारकोटिक्स विंग के अधिकारी प्रशांत कैथवास और कमल पटेल कंचवान शुक्रवार-शनिवार की रात मुखबिर की सूचना पर मंदसौर नीमच फोरलेन हाईवे रोड पर पहुंचे थे। यहीं पर उन्होंने राजस्थान के प्रतापगढ़ के रहने वाले सोहेल को पकड़ा। कथित तौर पर सोहेल के पास से 90 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद हुई थी। जिसके बाद दोनों ही अधिकारी सोहेल को गिरफ्तार कर अपने साथ मंदसौर ले आए। यहां पर दोनों ही पुलिस अधिकारी कथित तौर पर  सोहेल को पीरूलाल सोनी और दिनेश परमार की निगरानी में रखकर सोहेल के खिलाफ अपराध दर्ज करने इंदौर स्थित नारकोटिक्स सेल के लिए रवाना हो गए।  

इसी दौरान सोहेल की संदिग्ध परिस्थियों में मौत हो गई। सोहेल के शरीर पर चोट के निशान हैं। परिजनों का आरोप है कि सोहेल की मौत टॉर्चर की वजह से हुई है। परिजनों ने नारकोटिक्स विंग के अधिकारियों पर हत्या और 50 लाख मांगे जाने का आरोप लगाया है। परिजनों द्वारा संगीन आरोप लगाए जाने के बाद चारों ही अधिकारीयों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही पूरे मामले को लेकर न्यायिक जांच भी बैठा दी गई है।