MP अगेंस्ट MPCA करप्शन अभियान, कांग्रेस बोली- इंदौर में 14 हजार 500 टिकटों की हुई कालाबाजारी

इंदौर में एमपी अगेंस्ट एमपीसीए करप्शन आंदोलन के तहत कांग्रेस प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने कहा कि 10% तक टिकट ही कंप्लीमेंट्री टिकट के रूप में दिए जाना थे, लेकिन एमपीसीए ने 14 हजार 500 टिकट कंप्लीमेंट्री के नाम पर लेकर उन्हें ब्लैक किया।

Updated: Oct 27, 2022, 05:02 PM IST

MP अगेंस्ट MPCA करप्शन अभियान, कांग्रेस बोली- इंदौर में 14 हजार 500 टिकटों की हुई कालाबाजारी

इंदौर। मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (MPCA) आर्थिक अनिमितताओं को लेकर विवादों में है। इंदौर में टिकट स्कैम और मुरैना जमीन घोटाला उजागर होने के बाद विपक्ष लगातार हमलावर है। कांग्रेस ने अब इसके खिलाफ MP अगेंस्ट MPCA करप्शन मुहिम छेड़ दिया है।

कांग्रेस के स्टेट सेक्रेटरी राकेश सिंह यादव ने एमपीसीए पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने दावा किया कि 4 अक्टूबर को भारत बनाम साउथ अफ्रीका मैच में 14 हजार 500 टिकट की कालाबाजारी हुई। लोढ़ा कमेटी के नियम अनुसार स्टेडियम की क्षमता के 10% तक टिकट ही कंप्लीमेंट्री टिकट के रूप में दिए जाना थे, लेकिन एमपीसीए ने 14500 टिकिट कंप्लीमेंट्री के नाम पर लेकर उन्हें ब्लैक किया।

यह भी पढ़ें: हेट स्पीच केस में सपा नेता आजम खान दोषी करार, रामपुर कोर्ट ने सुनाई 3 साल की सजा

उन्होंने यह भी कहा कि एमपीसीए के पदाधिकारियों का 1 अक्टूबर को कार्यकाल खत्म हो गया था। बावजूद इसके एमपीसीए ने भारत और साउथ अफ्रीका का मैच इंदौर में संपन्न कराया। जबकि नियम अनुसार समय बढ़ाने या चुनाव कराने की भी अनुमति रजिस्टर फॉर्म एंड सोसाइटी से लेना थी। जो आज तक नहीं ली गई है।

यादव ने आरोप लगाया कि बीसीसीआई से मिलने वाले फंड का कोविड केयर के नाम पर दुरुपयोग किया गया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'अब तक सिंधिया ने बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को भी एमपीसी का सदस्य नहीं बनाया है। 4 बार सदस्य बनाने के लिए आवेदन निरस्त कर दिए गए। इसके साथ ही एमपीसीए की शिकायत जीएसटी काउंसलिंग से भी की गई है। अगर जीएसटी विभाग इस पर कार्रवाई नहीं करता तो कांग्रेस प्रदेश सचिव ने कोर्ट जाने का भी निर्णय लिया है। फिलहाल पूरे मामले में MPCA के बदले अधिकारी कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे हैं।