Raksha Bandhan: बेतूल में वृक्ष की रक्षा के लिए राखी

Betul: सरकारी स्कूल की छात्राओं ने पेड़ को 30 फीट लंबी राखी बांधी, वृक्षों की रक्षा का लिया संकल्प। शिक्षकों के साथ मिलकर दिया प्रकृति संरक्षण का संदेश

Updated: Aug-03, 2020, 05:23 PM IST

Raksha Bandhan:  बेतूल में वृक्ष की रक्षा के लिए राखी

रक्षा बंधन पर बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है औऱ भाई अपनी बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। लेकिन बैतूल में कुछ बहनों ने अपनी भाई की रक्षा का संकल्प लिया है। ये बहनें स्कूली छात्राएं हैं और इनके भाई हैं जंगल में लगे विशाल पेड़।

बैतूल जिले के शासकीय स्कूल सिमोरी के शिक्षकों और छात्रों ने पेड़ों को राखियां बांधकर उनकी हिफाजत करने का वचन लिया है। स्कूली विद्यार्थियों के साथ शिक्षकों ने ताप्ती किनारे सागौन के जंगल में पेड़ों को 30 फीट लंबी राखी बांधकर उनकी रक्षा करने का वचन दिया।

इस बारे में स्कूल शिक्षक शैलेन्द्र बिहारिया का कहना है कि पेड़ों को राखी बांधने का सिलसिला 1998 से चला रहे है। उनका कहना है कि पेड़ हमारे भैया नंबर वन हैं, इनके जैसा कोई नहीं है। सभी को अपने आसपास लगे पेड़ों को राखी बांध रक्षा का संकल्प लेना चाहिए।

शासकीय स्कूल सिमोरी की शिक्षिका ममता गोहर का कहना है कि छात्रों ने 30 फीट लंबी राखी 5 दिनों में अपने हाथ से ही तैयार की।  छात्रों ने इस राखी को बड़े ही आकर्षक ढ़ग से सजाया है। शिक्षिका का कहना है कि पेड़-पौधों की सुरक्षा का भी हमारा दायित्व है, इसलिए पेड़-पौधों को अपना भाई मानकर राखी बांधी है।

 इस दौरान स्कूल के कई शिक्षक के साथ मिलकर छात्राओं ने भैया नंबर वन को 30 फिट लंबी राखी बांधी और आरती उतारकर पेड़ों की रक्षा का संकल्प लिया। कोरोना के कारण जंगल में पेड़ों को राखी बांधने का यह कार्यक्रम चुनिंदा लोगों की उपस्थिति में किया गया।