अमेजन के जरिए हुई एक टन गांजे की तस्करी, MP पुलिस ने भेजा ई कॉमर्स कम्पनी को समन

शनिवार को भिंड में पुलिस ने दो गांजा तस्करों को बीस किलो गांजे के साथ गिरफ्तार किया था, आरोपी अमेजन के जरिए गांजा की तस्करी कर रहे थे

Publish: Nov 16, 2021, 10:06 AM IST

अमेजन के जरिए हुई एक टन गांजे की तस्करी, MP पुलिस ने भेजा ई कॉमर्स कम्पनी को समन

भोपाल। मध्य प्रदेश पुलिस ने ई कॉमर्स कम्पनी अमेजन को समन भेजा है। अमेजन को यह समन गांजा तस्करी के सिलसिले में भेजा गया है। एमपी पुलिस ने अमेजन के अधिकारियों को पूछताछ के लिए हाजिर होने के लिए कहा है। 

मध्य प्रदेश पुलिस इस समय एक मामले की छानबीन कर रही है। जिसमें गांजे की तस्करी के लिए ई कॉमर्स कम्पनी का उपयोग किया गया था। शनिवार को ही भिंड में पुलिस ने दो गांजा तस्करों को बीस किलो गांजे के साथ गिरफ्तार किया था। 

शनिवार को गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने भिंड ग्वालियर रोड पर दो गांजा तस्करों कल्लू पवैया और बृजेंद्र तोमर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने इनके पास से बीस किलो गांजा बरामद किया था। पुलिस ने अपनी पड़ताल में पाया कि गांजे की तस्करी के लिए इन आरोपियों ने अमेजन का उपयोग किया था। अमेजन के जरिए आरोपियों ने विभिन्न राज्यों में गांजे की तस्करी की थी। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी कड़ी पत्ता का टैग लगाकर गांजे की तस्करी किया करते थे। अब तक आरोपी एक टन से अधिक गांजे की तस्करी कर चुके हैं। पकड़े गए आरोपी सूरज पवैया ने पुलिस को बताया कि अमेजन कड़ी पत्ते के टैग से आंध्र प्रदेश से गांजे की तस्करी ग्वालियर, भोपाल, कोटा, आगरा समेत अन्य राज्यों के जिलों में किया करता था। आरोपी ने बताया कि इसका 66 फीसदी हिस्सा ई कॉमर्स कम्पनी अमेजन को जाता है। 

हालांकि इस पूरे मामले में अमेजन के प्रवक्ता का एक बयान भी मीडिया में सामने आया है, जिसमें अमेजन ने इस तरह के आरोप को सिरे से खारिज किया है। प्रवक्ता ने कहा है कि अमेजन ऐसी किसी भी सामग्री की बिक्री नहीं करता तो कि भारत में कानूनी तौर पर प्रतिबंधित है। प्रवक्ता ने कहा है कि कम्पनी इस पूरे मामले की जांच में पुलिस का सहयोग करेगी।