मुरलीधर राव ने सीएम शिवराज को बताया विराट कोहली, कांग्रेस बोली कप्तानी जाना तय

मुरलीधर राव ने सीएम शिवराज को विराट कोहली बताते हुए कहा कि वे विराट कोहली की तरह बैटिंग करेंगे

Updated: Jan 17, 2022, 03:30 PM IST

मुरलीधर राव ने सीएम शिवराज को बताया विराट कोहली, कांग्रेस बोली कप्तानी जाना तय

भोपाल। टीम इंडिया के पूर्व टेस्ट कप्तान विराट कोहली की कप्तानी से विदाई के मामले ने मध्य प्रदेश की सियासत में भी एंट्री मार ली है। बीजेपी मध्य प्रदेश के प्रभारी मुरलीधर राव ने सीएम शिवराज को विराट कोहली बताकर प्रदेश की राजनीतिक हलचल तेज़ कर दी है। कांग्रेस पार्टी ने मुरलीधर राव के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा है कि इसका मतलब है कि सीएम शिवराज की कप्तानी यानी कुर्सी जाना तय है। 

दरअसल बीजेपी नेता मुरलीधर राव का एक बयान सोशल मीडिया पर तैर रहा है। जिसमें मुरलीधर राव मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान की विराट कोहली से तुलना करते हुए कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री जी एक दिन लेट कर सकते हैं, लेकिन सौ घंटा पूरा करेंगे। विराट कोहली जैसा बैटिंग करेंगे। 

मुरलीधर राव के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने करारा तंज कसा है। नरेंद्र सलूजा ने कहा है कि मध्य प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच मुरलीधर राव ने शिवराज जी को विराट कोहली बताकर परिवर्तन पर मुहर लगा दी है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा नेता के इस बयान का मतलब है कि शिवराज जी कप्तानी जाना तय है।  

कांग्रेस प्रवक्ता ने मुरलीधर द्वारा अतीत में दिये गये विवादित बयानों का ज़िक्र करते हुए कहा कि नालायक, ब्राह्मण-बनिया वाले बयान के बाद अब शिवराज जी को विराट कोहली बताने से नया बखेड़ा होगा।  

यह भी पढ़ें ः पंजाब विधानसभा चुनाव टला, नयी तारीख का हुआ एलान

मध्य प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा आम रहती हैं। बीते कुछ दिनों से यह चर्चा है कि बीजेपी का मुख्यमंत्री बदलो अभियान मध्य प्रदेश में किसी भी वक्त लागू किया जा सकता है। हाल ही में शिवराज सरकार में नंबर दो के मंत्री नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली दौरे ने प्रदेश का सियासी पारा भी चढ़ा दिया था। नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली दौरे के बाद शिवराज सरकार में मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने बयान से नेतृत्व परिवर्तन की आशंका के बीच बीजेपी की आंतरिक गुटबाज़ी को और हवा दे दी थी। गोपाल भार्गव ने नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली दौरे पर तंज कसते हुए कहा था कि वे दिल्लीवादी नेता नहीं हैं। और जो लॉबिंग करने में अपना ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, उन्हें इसका कोई फायदा नहीं होने वाला। 

गोपाल भार्गव के इस बयान के कुछ ही दिनों बाद बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने प्रदेश सरकार में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया को प्रदेश का मुख्यमंत्री बताकर एक बार फिर राजनीति हलचलों को तेज़ कर दिया। हालांकि कैलाश विजयवर्गीय ने तत्काल ही अपनी भूल सुधार ली, लेकिन इसके ठीक बाद उन्होंने यह भी कह दिया कभी कभी अचानक बोली गयी कोई बात सच भी हो जाती है।