अब MP में रामचरित मानस पढ़ेंगे छात्र, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में शुरू होगा पाठ्यक्रम

विश्वविद्यालय के कुलपति के मुताबिक रामचरित मानस का डिप्लोमा कोर्स शुरू किया जाएगा, जो कि दो सेमेस्टर का होगा, इसके साथ ही विश्वविद्यालय गर्भसंस्कार और एग्रीकल्चर के कोर्स की शुरुआत करने जा रहा है

Updated: Aug 30, 2021, 01:53 PM IST

अब MP में रामचरित मानस पढ़ेंगे छात्र, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में शुरू होगा पाठ्यक्रम
Photo courtesy: patrika

जबलपुर। मध्य प्रदेश में अब छात्रों को रामचरित मानस का पाठ भी पढ़ाया जाएगा। इसकी तैयारी जबलपुर स्थित रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय ने कर दी है। यह विश्वविद्यालय इस सत्र से नए पाठ्यक्रमों की शुरुआत करने जा रहा है। जिसमें एक कोर्स रामचरित मानस का भी है। 

विश्वविद्यालय में रामचरित मानस की पढ़ाई शुरू होने की पुष्टि खुद विश्वविद्यालय के कुलपति कपिलदेव मिश्रा ने की है। कुलपति के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में यह कहा जा रहा है कि इस सत्र से विश्वद्यालय में कई कोर्स शुरू किए जा रहे हैं, जिनमें एक रामचरित मानस भी है। 

कुलपति ने रामचरित मानस के कोर्स की जानकारी देते हुए कहा है कि यह एक डिप्लोमा कोर्स होगा, जिसमें दो सेमेस्टर होंगे। कुलपति ने बताया है कि नई शिक्षा नीति के तहत विश्वविद्यालय में और भी कई तरह के कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। जिसमें गर्भसंस्कार और कर्मकांड जैसे कोर्स की भी शुरू किए जाएंगे। वहीं जिम इंस्ट्रक्टर के डिप्लोमा कोर्स की भी शुरुआत होने जा रही है। 

इसके अलावा विश्वविद्यालय एग्रीकल्चर की पढ़ाई भी शुरू करने जा रहा है। फिलहाल विश्वविद्यालय में एग्रीकल्चर के स्नातक कोर्स की शुरुआत होगी, जिसमें 60 छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा। उज्जैन स्थित विक्रम विवि में भी इसी सत्र से एग्रीकल्चर की पढ़ाई शुरू की जा रही है। दुर्गावती विश्वविद्यालय भी विक्रम विवि द्वारा तैयार किए गए पाठ्यक्रम को अपनाएगा।