प्रदेश में कहीं ऑक्सीजन तो कहीं इंजेक्शन की कमी से जूझ रहे लोग, लेकिन मुख्यमंत्री योगा करने में व्यस्त

स्वास्थ्य आग्रह पर बैठे हुए हैं मुख्यमंत्री, मंच पर योगा कर खोज रहे हैं कोरोना को भगाने की तरकीब

Updated: Apr 07, 2021, 05:36 PM IST

प्रदेश में कहीं ऑक्सीजन तो कहीं इंजेक्शन की कमी से जूझ रहे लोग, लेकिन मुख्यमंत्री योगा करने में व्यस्त

भोपाल। मध्यप्रदेश पूरे देश भर के कोरोना से सबसे ज़्यादा संक्रमित राज्यों में से एक है। यहां दिन प्रतिदिन हालात बदतर होते जा रहे हैं। कोरोना के कहर ने लोगों के बीच एक बार फिर भय का माहौल बना दिया है। लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश से कोरोना को भगाने के लिए अपने स्वास्थ्य आग्रह के मंच पर योगा कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : भोपाल: रात दो बजे बंद हुई ऑक्सीजन सप्लाई, तड़पते रहे मरीज, डेढ़ घंटे में दो की मौत

राजधानी भोपाल में हाल ही में एक अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई की कमी से दो लोगों की मौत हो गई। प्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी किल्लत है। इंदौर शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की भारी किल्लत और कालाबाजारी की बात सामने आई है। कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने तो मुख्यमंत्री और इंदौर प्रशासन से इंजेक्शन की उपलब्धता जल्द से जल्द सुनिश्चित करने की मांग भी की है। 

लेकिन इन तमाम परेशानियों से जूझ रही प्रदेश की जनता के मुख्यमंत्री क्या कर रहे हैं? वे सरकार खर्चे पर स्वास्थ्य आग्रह कर रहे हैं, और लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक कर रहे हैं। लेकिन क्या मुख्यमंत्री के योगा भर से प्रदेश भर में कोरोना का कहर थम सकता है? खुद पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ भी शिवराज सिंह चौहान पर जनता को मुद्दे से भटकाने के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठने का नाटक करने का आरोप लगा चुके हैं। कमल नाथ ने कहा है कि जब भी प्रदेश की जनता को सरकार की ज़रूरत होती है, तब तब शिवराज सिंह चौहान उपवास पर बैठ जाते हैं। 

यह भी पढ़ें : इंदौर: मास्क न पहने हुए व्यक्ति को सिपाहियों ने बेरहमी से पीटा, गुंडागर्दी करने के लिए हुए सस्पेंड

बहरहाल मंगलवार दोपहर 12.30 बजे से मिंटो हॉल में शुरू हुआ शिवराज का स्वास्थ्य आग्रह आज समाप्त जो जाएगा। जनता को पिछ्ले 24 घंटे में कोरोना के प्रति जागरूक कर चुके शिवराज अपने स्वास्थ्य आग्रह के आखिरी घंटों में जन जागरण के लिए धर्म गुरुओं से मुलाकात करेंगे। वहीं शिवराज के सामाजिक संगठनों से भी मुलाकात करने की खबर है।