सीधी बस हादसे में दो और शव मिले, एक अब भी लापता

सीधी बस हादसे में दो और शव मिले, हादसे में मरने वालों का आंकड़ा 53 हुआ, एक लापता यात्री की तलाश जारी

Updated: Feb 19, 2021, 01:51 PM IST

सीधी बस हादसे में दो और शव मिले, एक अब भी लापता

सीधी। सीधी से सतना जा रही बस हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है।रेस्क्यू टीम ने शुक्रवार को दो शवों को बरामद कर लिया है। मृतक की पहचान 29 वर्षीय रमेश विश्वकर्मा और योगेंद्र शर्मा के रुप में हुई है। शुक्रवार सुबह यह शव टीकर नहर में सुरंग के बाहर मिले हैं।अब भी प्रशासन को केवल एक शव की तलाश है। NDRF, SDRF और होमगार्ड की टीमें जुटी हुई हैं। बताया जा रहा है कि टनल में ऑक्सीजन की कमी के कारण सर्चिंग में दिकक्त आ रही थी, जिसके बाद सर्चिंग टीम ऑक्सीजन सिलेंण्डर, हेड लैंप लेकर टनल में तलाश कर रही है।

16 फरवरी को 32 सीटर बस में ओवर लोडिंग कर करीब 62 यात्रियों बैठाया गया था। बस सीधी से सतना जा रही थी। जिसमें बड़ी संख्या में छात्र सवार थे, ये सभी NTPC और RRB का एक्जाम देने जा रहे थे। जाम से बचने के लिए ड्राइवर ने रूट बदला था। यह बस सीधी जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर पटना गांव के पास बाणसागर नहर में गिर गई। जिसमें 53 लोगों की जान चली गई। सात लोग सुरक्षित बच गए थे।

और पढ़ें: सीधी बस हादसा: सड़क ठीक होती तो बिछड़ता नहीं मेरा पोता, सीएम के सामने फूटा पीड़ितों का दर्द

राज्य सरकार ने 5 लाख औऱ केंद्र सरकार ने दो लाख के मुआवजे का ऐलान किया था। हाल ही में मुख्यमंत्री ने पीड़तों के परिवारों मुलाकात कर सात-सात लाख का चेक सौंपा था। इस मामले के चार दोषी अफसरों पर गाज गिरी है।

और पढ़ें: सीधी बस हादसे के 36 घंटे बाद मुख्यमंत्री ने 4 अफसरों को किया निलंबित

हादसे के बाद सरकार ने परिवहन नियमों का कड़ाई से पालन करवाना शुरु कर दिया है। गुरुवार को प्रदेशभर में यात्री बसों का विशेष चेकिंग अभियान चलाया गया। जिसमें 600 से ज्यादा बसों की जांच हुई। इनमें बड़ी संख्या में बसें खस्ता हाल मिलीं हैं। परिवहन विभाग ने 50 बसें जब्त करने की कार्रवाई की है।