किसानों की चिंता होगी दूर, मप्र में बारिश होगी भरपूर, मौसम वैज्ञानिक का दावा

मध्यप्रदेश में अगले 72 घंटों में होगी झमाझम बरसात, बंगाल की खाड़ी और गुजरात में बने कम दबाव की वजह से मानसून के फिर से एक्टिव, मौसम वैज्ञानिक ने कहा किसान चिंता ना करें, इस साल सिंतबर तक मिलेगी भरपूर बारिश, बीते 24 घंटों में सबसे ज्यादा 22.6 मिमी सीधी में और सबसे कम रायसेन में 0.6 मिमी बारिश हुई

Updated: Jul 10, 2021, 01:00 PM IST

किसानों की चिंता होगी दूर, मप्र में बारिश होगी भरपूर, मौसम वैज्ञानिक का दावा
Photo Courtesy: Mp samachar

भोपाल। मध्यप्रदेश के लगभग सभी इलाकों में आगामी तीन दिनों में मूसलाधार बारिश होने के आसार हैं। भोपाल, इंदौर, शहडोल, रीवा, सागर, जबलपुर संभागों में भारी बारिश के आसार हैं। भोपाल स्थित मौसम केंद्र के मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा का कहना है कि अगले तीन से चार दिनों में भोपाल समेत प्रदेश के सभी जिलों में अच्छी बारिश देखने को मिलेगी। कई दिनों से बारिश नहीं होने से किसानों में चिंता है, लेकिन उनका कहना है कि केंद्रीय मौसम केंद्र और प्रादेशिक मौसम केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश होगी। बारिश का मौसम जून से 20 सिंतबर तक माना जाता है। ऐसे में करीब ढ़ाई महीने का समय है, जिसमें प्रदेश में औसत से ज्यादा बारिश होगी। पिछले दिनों कहीं पर भी कोई सिस्टम एक्टिव नहीं होने की वजह से बारिश में ब्रेक लगा ,था लेकिन अब गुजरात और बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम पूरे प्रदेश को फिर से तरबतर करने वाले हैं।

बारिश की कमी का कोटा जल्द ही पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों को बारिश को लेकर किसी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं है। मौसम वैज्ञानिक का दावा है कि प्रदेश में ना हीं सूखा और ना ही अल्प वर्षा के आसार हैं, इस साल पूरे प्रदेश में पर्याप्त बारिश होगी।

वहीं शुक्रवार रात में प्रदेश की राजधानी भोपाल, गुना, खंडवा इलाकों में हल्की बारिश हुई। इस बारिश से रात में लोगों को हल्की राहत मिली। शनिवार सुबह दिन चढ़ते ही गर्मी बढ़ी और फिर उमस होने लगी है।

दरअसल दो नए सिस्टम बनने की वजह से अब झमाझम बरसात होगी। जिससे बारिश की कमी का कोटा पूरा होने के उम्मीद है। अब तक करीब आधे मध्यप्रदेश में सामान्य से कम बारिश हुई है।

मौसम विभाग का कहना है कि छतरपुर, दमोह, पन्ना, दतिया, टीकमगढ़, आलीराजपुर, निवाड़ी, खंडवा, खरगोन, शिवपुरी, आगर, बालाघाट, बड़वानी, बुरहानपुर, धार, झाबुआ, ग्वालियर-चंबल इलाकों में अभी कम वर्षा हुई है। वहीं दमोह, पन्ना, मुरैना, श्योपुर, आलीराजपुर, भिंड, दतिया को भी बारिश का कोटा पूरा होना बाकी है। करीब एक सप्ताह से ज्यादा से भोपाल इंदौर में ज्यादा वर्षा नहीं से उमस औऱ गर्मी बढ़ गई थी। अब हल्की बारिश के बाद भोपाल में लोगों को थोड़ी राहत मिली है। सागर, गुना, खंडवा समेत मालवा निमाड़ में 13 से 16 जुलाई के बीच तेज बारिश होने का अनुमान है।

पिछले 24 घंटों में प्रदेश के विभिन्न जिलों में कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश हुई। सीधी-22.6 मिमी, सिवनी -21.4 मिमी, सागर-15.0 मिमी, छिंदवाड़ा-12.6 मिमी, जबलपुर-7.8 मिमी, होशंगाबाद- 5.6 मिमी, रीवा-4.6 मिमी, नौगांव-2.2 मिमी, भोपाल शहर-1.9 मिमी, दमोह- 1.0 मिमी, रायसेन 0.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है।