Drug Case: रकुलप्रीत की अर्जी पर दिल्ली हाईकोर्ट की मीडिया को हिदायत

Rhea Chakraborty Drug Case: रकुलप्रीत ने लगाई थी मीडिया ट्रायल के खिलाफ गुहार, अदालत ने सरकार से भी मांगा जवाब

Updated: Sep 17, 2020 04:23 PM IST

Drug Case: रकुलप्रीत की अर्जी पर दिल्ली हाईकोर्ट की मीडिया को हिदायत

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग्स केस की एंट्री होने के बाद से रिया चक्रवर्ती जेल में हैं। रिया की पूछताछ के बाद लगातार एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं। मीडिया में खबर आई है कि रिया ने  25 फिल्मी हस्तियों के नाम का खुलासा किया था। उनमें से तीन नामों की खूब चर्चा हो रही है। एक हैं सैफ-अमृता की बेटी सारा आली खान, रकुलप्रीत सिंह और रणवीर सिंह की फैशन डिजाइनर सिमोन खंबाटा।

मीडिया में  नाम आने के बाद अब रकुलप्रीत सिंह ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की है जिसमें उन्होंने कहा है कि ड्रग मामले में उनका नाम जबरन घसीटा जा रहा है। जिससे उनकी छवि को नुकसान पहुंच रह है। याचिका में रकुलप्रीत ने मांग की है कि उनका मीडिया ट्रायल ना किया जाए।

दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा

रकुलप्रीत की याचिका पर गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा। जिसके बाद केंद्र की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट में कहा गया कि अभी रकुलप्रीत की ओर से कोई केबल टीवी एक्ट के तहत किसी भी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली हैं, ऐसे में सेंसरशिप का कोई आदेश पास नहीं किया जाना चाहिए।

 कोर्ट ने मीडिया को संयम बरतने की नसीहत दी

दरअसल जस्टिस नवीन चावला ने रकुलप्रीत की याचिका पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, प्रसार भारती और भारतीय प्रेस परिषद को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। अदालत ने कहा कि वे रकुलप्रीत की याचिका को अभिवेदन मानें और 15 अक्टूबर से पहले इस पर फैसला लें। वहीं दिल्ली हाई कोर्ट ने उम्मीद जताई है कि रिया चक्रवर्ती से जुड़े मामले में रकुलप्रीत से जुड़ी खबरों में मीडिया संयम बरतेगा। कोर्ट ने कहा है कि याचिकाकर्ता के बारे में खबरें बनाते वक्त मीडिया, केबल टीवी नियमों, प्रोग्राम कोड और अन्य दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे।

रकुलप्रीत

रकुलप्रीत ने कहा कि मीडिया उन्हें बना रहा है आरोपी 

एक्ट्रेस रकुलप्रीत ने अपनी याचिका में दलील दी थी कि रिया के जिस बयान के आधार पर उन पर नशीली दवाएं लेने का आरोप लगाया जा रहा है, रिया चक्रवर्ती कोर्ट में अपने उसी बयान से मुकर चुकी हैं। रिया का कहना है कि वह बयान दबाव में लिया गया था। अपनी याचिका में रकुलप्रीत ने कहा है कि मीडिया उनके खिलाफ गलत कैंपेन नहीं चला सकती। मीडिया द्वारा उन्हें आरोपी बनाया जा रहा है। इससे उनके परिवार को तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। रकुल का कहना है कि इससे उनके मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा है। जब तक मामला कोर्ट में लंबित है तब तक मीडिया ट्रायल पर रोक लगना चाहिए।

रकुल प्रीत की ओर से कहा गया है कि "मुझे एक शूट के दौरान पता चला कि रिया चक्रवर्ती ने मेरा और सारा का नाम लिया और उसके बाद से ही मुझे लगातार मीडिया में बदनाम किया जा रहा है। इससे मेरी छवि को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। 

ग़ौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स एंगल जुड़ने के बाद एनसीबी ने 17 लोगों की गिरफ्तारी की है। रिया चक्रवर्ती के साथ उनका भाई शौविक चक्रवर्ती भी 22 सितंबर भी न्यायिक हिरासत में है।