लोन रद्द होने से नाराज शख्स ने बैंक में लगा दी आग, पुलिस ने किया गिरफ्तार

केनरा बैंक से लोन लेना चाहता था शख्स, बैंक ने उसका आवेदन किया था निरस्त, नाराज होकर बैंक में पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी, बैंक में रखा करीब 12 लाख का सामान जला

Updated: Jan 11, 2022, 02:29 PM IST

लोन रद्द होने से नाराज शख्स ने बैंक में लगा दी आग, पुलिस ने किया गिरफ्तार
Photo Courtesy: Republic world

हावेरी। कर्नाटक में एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है। हावेरी जिले में एक व्यक्ति ने बैंक में आग लगा दी। उसका आरोप है कि बैंक ने उसका लोन रद्द कर दिया था। बैंक से लोन नहीं मिलने से निराश होकर शख्स ने बैंक को आग के हवाले कर दिया। घटना रविवार की है। बैंक में आग की खबर लगते ही पुलिस एक्टिव हुई और आरोपी को गिरफ्तार किया। हावेरी के कागिनेली थाना पुलिस ने IPC की धारा 436, 477, 435 के तहत केस दर्ज किया है।

आरोपी ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि वह किसी काम के लिए बैंक से कर्ज लेना चाहता था।  लेकिन बैंक ने एप्लीकेशन के बाद डाक्युमेंट वेरिफिकेशन के बाद उसकी लोन एप्लीकेशन  रद्द कर दी। जिससे शख्स काफी नाराज था। शख्स की पहचान हावेरी के रत्तीहल्ली कस्बे के निवासी के तौर पर हुई है। उसका नाम वसीम हजरत्सब मुल्ला है। वसीम ने अपने इलाके के केनरा बैंक की एक ब्रांच में लोन के लिए आवेदन दिया था। केनरा बैंक की यह शाखा हेदुगोंडा गांव में स्थित है। बैंक ने शख्स का आवेदन इसलिए रद्द  किया क्योंकि उसका सिबिल स्कोर कम था। इसलिए बैंक ने दस्तावेज सत्यापन के बाद लोन देने से इनकार कर दिया। जैसे ही उसे इस बात का पता चला उसने बैंक की शाखा में आग  लगा दी।

और पढ़ें: कमलनाथ ने क्यों दिया दो माह का अल्टीमेटम

इस आग से बैंक में करीब 12 लाख का नुकसान हुआ है। वहां कंप्यूटर, पंखे, लाइट, पासबुक प्रिंटर, कैश काउंटिंग मशीन, दस्तावेज, सीसीटीवी और कैश काउंटर राख हो गए हैं। वसीम बैंक की खिड़की तोड़कर बैंक में घुसा और पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी।  बैंक से आग की लपटें देख एक राहगीर ने इसकी खबर पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी। फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया। इस बीच बैंक में काफी नुकसान हो गया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आगे की कार्रवाई जारी है।