तेजस्वी यादव के आरोपों पर चुनाव आयोग ने दिया जवाब

चुनाव आयोग का दावा, बिहार की मतगणना कोई गड़बड़ी नहीं, सभी नियमों का पालन हुआ, तेजस्वी यादव ने लगाया है वोटों की गिनती में धांधली का आरोप

Updated: Nov 13, 2020, 01:45 PM IST

तेजस्वी यादव के आरोपों पर चुनाव आयोग ने दिया जवाब
Photo Courtesy: Jagran

बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच आर श्रीनिवासन ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के आरोपों पर सफाई दी है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में श्रीनिवासन ने कहा कि बिहार में चुनाव पूरी तरह स्वतंत्र और निष्पक्ष ढंग से कराए गए और मतगणना का काम भी नियमों के मुताबिक ही किया गया। तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया है कि मतगणना के दौरान कई सीटों पर महागठबंधन के उम्मीदवारों को धांधली करके हराया गया है। उन्होंने कम से कम 20 सीटों पर गलत ढंग से चुनाव हराए जाने का आरोप लगाया है।

एचआर श्रीनिवासन ने इन आरोपो का जवाब देते हुए कहा कि वोटों की गिनती में कहीं कोई गड़बड़ी नही की गई है। विजयी उम्मीदवारों को प्रमाणपत्र सौंपने में देर किए जाने के तेजस्वी के आरोप पर उन्होंने कहा कि ईवीएम की गिनती के अंत में, पांच मतदान केंद्रों को VVPAT पर्चियों के साथ मिलान के लिए चुना जाता है। VVPAT स्लिप की गिनती एक थकाऊ काम है और इसमें समय लगता है। इसके अलावा, कुछ मामलों में कंट्रोल यूनिट ने परिणाम प्रदर्शित नहीं किए या और मतदान अधिकारी मॉक पोल के वोटों को डिलीट करना भूल गए। ऐसे मामलों में पर्चियों की गिनती में और भी देर लगती है। इसलिए जब तक ईवीएम के राउंड खत्म नहीं हो जाते, तब तक वास्तविक परिणाम घोषित नहीं हो सकते। ऐसे ही कई कारण हैं जिनके चलते विजयी उम्मीदवारों को प्रमाणपत्र सौंपने में कई बार समय लग जाता है। श्रीनिवासन ने ये भी कहा है कि वोटों की गिनती की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी की गई है।

इस बीच, दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने गड़बड़ी के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि बिहार के सीईओ सभी आरोपों का जवाब दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने मतगणना की प्रक्रिया के विभिन्न पहलुओं की जानकारी देने के लिए ही वोटों की गिनती वाले दिन चार बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी।

तेजस्वी यादव ने मतगणना में धांधली के आरोप लगाते हुए यह भी कहा है कि सभी उम्मीदवारों के संदेह को दूर करना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। इसीलिए संदेह वाले इलाकों में रीकाउंटिंग बेहद जरूरी है। उन्होंने मतगणना की रिकॉर्डिंग दिखाए जाने की मांग भी की है। तेजस्वी ने दावा किया है कि जनता ने उनके रोज़गार के मुद्दे को स्वीकार किया है। उन्होंने जनता की तरफ से मिले समर्थन के लिए धन्यवाद यात्रा निकालने का एलान भी किया है।