दिवाली की रात वडोदरा में सांप्रदायिक तनाव, पुलिस के सामने चले पेट्रोल बम, 19 लोग गिरफ्तार

गुजरात के वडोदरा में दिवाली की रात सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने की कोशिशें हुई, यहां पुलिस के सामने ही पेट्रोल बम तक चलाए गए। पुलिस का कहना है यह दंगे भड़काने की सुनियोजित कोशिश थी।

Updated: Oct 25, 2022, 05:27 PM IST

दिवाली की रात वडोदरा में सांप्रदायिक तनाव, पुलिस के सामने चले पेट्रोल बम, 19 लोग गिरफ्तार

वडोदरा। गुजरात के वडोदरा में दिवाली की रात एक बार फिर से सांप्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिशें हुई। दंगा भड़काने की कोशिश में जुटे लोगों ने पुलिस के सामने भी पेट्रोल बम फेंकी। ये हिंसा रात 12.30 बजे से लेकर 1.30 बजे तक चली। हालांकि, पुलिस की सक्रियता के कारण दंगाइयों के मंसूबे विफल हो गए।

वडोदरा पुलिस ने इस मामले में अब तक 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उस व्यक्ति को भी हिरासत में लिया है, जिसने पुलिस अधिकारियों पर पेट्रोल बम फेंका था। डीसीपी यशपाल जगनिया ने बताया कि पानीगेट में मुस्लिम मेडिकल सेंटर के पास पथराव की घटना हुई है। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और कार्रवाई की। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। सीसीटीवी की जांच की जा रही है और चश्मदीदों से पूछताछ की जा रही है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक विवाद के दौरान एक गुट ने सड़क पर खड़े वाहनों और कई दुकानों को तोड़ना शुरू कर दिया था। यह इलाका बेहद संवेदनशील है। पिछले चार महीने में एक ही इलाके में तीन बार दंगे की घटनाएं हो चुकी हैं। जानकारी के मुताबिक शुरुआत में विवाद आतिशबाजी को लेकर हुई। गुजरात पुलिस ने कहा कि स्ट्रीट लाइट बंद कर दी गई थी और पेट्रोल बम फेंके गए थे, यह दर्शाता है कि दंगे पूर्व नियोजित थे। 

स्ट्रीट लाइट बंद होने के कारण कई दुकानों में तोड़फोड़ की गई और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। जब पुलिस अधिकारी कानून-व्यवस्था बहाल करने के लिए इलाके में पैट्रोलिंग कर रहे थे तब उन पर पेट्रोल बम भी फेंके गए। इस दौरान पथराव भी किया गया। इससे पहले इस महीने की शुरुआत में वडोदरा के सावली शहर में सब्जी मंडी में सांप्रदायिक झड़प में 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।