Digvijaya Singh: पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से, कांग्रेस स्थापना दिवस पर बोले दिग्विजय सिंह

कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस पर दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में वरिष्ठ नेता ए के एंटनी ने ध्वजारोहण किया, भोपाल में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने झंडा फहराया

Updated: Dec 28, 2020, 04:56 PM IST

Digvijaya Singh: पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से, कांग्रेस स्थापना दिवस पर बोले दिग्विजय सिंह
Photo courtesy: The Quint

नई दिल्ली। आज कांग्रेस पार्टी का 136 वाँ स्थापना दिवस है। इस अवसर पर कांग्रेस ने सेल्फ़ी विद तिरंगा यानी तिरंगे झंडे के साथ सेल्फ़ी खींचकर सोशल मीडिया पर शेयर करने की मुहिम छेड़ी है। पार्टी ने अपील की है कि सभी लोग तिरंगे के साथ एक सेल्फी लेकर देश की बहुलतावादी संस्कृति को आगे बढ़ाने और एकजुट भारत का संकल्प लें। इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी ने किसानों का मुद्दा उठाते हुए संकल्प ज़ाहिर किया है कि तिरंगे की छांव तले जिस तरह आज़ादी की लड़ाई जीती गई थी, वैसे ही किसानों की लड़ाई भी जीती जाएगी।

दिल्ली में एके एंटनी ने किया ध्वजारोहण 

स्थापना दिवस के मौके पर दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय में ध्वजारोहण कार्यक्रम हुआ। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की सेहत ठीक न होने की वजह से झंडारोहण पार्टी के वरिष्ठ नेता ए के एंटनी ने किया। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा गुलाम नबी आज़ाद और के सी वेणुगोपाल समेत तमाम वरिष्ठ नेता कार्यक्रम में मौजूद रहे। 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने स्थापना दिवस के मौके पर झंडा फहराया। पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता और बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता इस मौके पर मौजूद रहे। 

 

कांग्रेस के तमाम नेताओं और राज्यों की इकाइयों ने पार्टी के स्थापना दिवस के अवसर पर अपने गौरवशाली इतिहास को याद करते हुए उसे मौजूदा दौर में और आगे बढ़ाने का संकल्प ज़ाहिर किया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के स्थापना दिवस पर जारी संदेश में कहा है कि कांग्रेस पार्टी देशहित की आवाज़ उठाने के लिए शुरू से प्रतिबद्ध रही है और आगे भी रहेगी। राहुल गांधी ने ट्विटर पर जारी संदेश में लिखा है, “देश हित की आवाज़ उठाने के लिए कांग्रेस शुरू से प्रतिबद्ध रही है। आज कांग्रेस के स्थापना दिवस पर, हम सच्चाई और समानता के अपने इस संकल्प को दोहराते हैं। जय हिंद!” राहुल ने इसके साथ ही देश की आज़ादी की लड़ाई में कांग्रेस पार्टी और उसके महान नेताओं के योगदान को याद करने वाला एक वीडियो भी शेयर किया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद दिग्विजय सिंह ने पार्टी के इतिहास को आज की चुनौतियों से जोड़ते हुए “पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से” का नारा दिया है। उन्होंने कांग्रेस के स्थापना दिवस की बधाई देते हुए ट्विटर पर लिखा है, “कॉंग्रेस पार्टी के 136 वें स्थापना दिवस पर सभी कॉंग्रेस जनों को मेरी हार्दिक बधाई व शुभ कामनाएं। आज हम उन्हें भी स्मरण करते हैं जो आज़ादी की लड़ाई में शहीद हुए जेल गए व यातनाएँ सहीं। पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से।”

 

मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से जारी संदेश में कांग्रेस के स्थापना दिवस की बधाई देते हुए कहा गया है, “कांग्रेस एक विचारधारा है जो देश की आज़ादी से लेकर आज तक देश की आन, मान और शान की ख़ातिर क़ुर्बान होने और संघर्ष करने के लिए हमें प्रेरित करती है। भारत देश का स्वाभिमान है कांग्रेस”

 

 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी आज एक बार फिर से किसानों का मुद्दा उठाते हुए मोदी सरकार पर तीखा हमला किया है। पार्टी ने किसानों के समर्थन में एक वकील के जान देने की ख़बर को शेयर करते हुए पीएम मोदी को कटघरे में खड़ा किया है। पार्टी ने ट्विटर पर लिखा है, “किसानों के समर्थन में आत्महत्या,वकील ने दी आंदोलन स्थल पर जान; तीन काले कृषि क़ानूनों से किसानों को बर्बाद करने की नरेन्द्र मोदी की साज़िश का विरोध करते हुये दिल्ली के एक वकील ने जान दे दी है। मोदी जी, किसानों पर रहम करो,  तानाशाही की भी कोई सीमा कोई मर्यादा होती है।”