जयपुर में कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली आज, राहुल-प्रियंका करेंगे शंखनाद, दिग्गजों का लगा जमावड़ा

इस रैली में शामिल होने के लिए देश के कई राज्यों के कांग्रेस नेता जयपुर पहुंचे, मध्य प्रदेश से दिग्विजय सिंह और कमलनाथ रहेंगे मौजूद, सोनिया गांधी के शामिल होने पर संशय

Updated: Dec 12, 2021, 08:48 AM IST

जयपुर में कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली आज, राहुल-प्रियंका करेंगे शंखनाद, दिग्गजों का लगा जमावड़ा
Photo Courtesy: NDTV

जयपुर। महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरने के लिए राजस्थान में कांग्रेस आज एक विशाल रैली आयोजित करने जा रही है। राजधानी जयपुर में आयोजित इस रैली का नाम महंगाई हटाओ महारैली है। इसमें प्रमुख रूप से राहुल गांधी, प्रियंका गांधी व सभी राज्यों के कांग्रेस नेता शामिल रहेंगें। हालांकि, सोनिया गांधी के आने पर संशय बरकरार है।

कांग्रेस नेताओं के मुताबिक इस महारैली में सभी कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री पहुंचेंगे। साथ ही अन्य राज्यों के पूर्व मुख्यमंत्री आएंगे। मध्य प्रदेश से कमलनाथ और दिग्विजय सिंह दोनों इस रैली में शामिल हो रहे हैं। रैली में महंगाई, सब्जियों और ईंधन सहित आवश्यक वस्तुओं की आसमान छूती कीमतों पर केंद्र को लेकर केंद्र को घेरा जाएगा। इस मेगा रैली को कांग्रेस की ‘री-ब्रांडिंग‘ के रूप में भी देखा जा रहा है, जिसे राहुल-प्रियंका लीड कर रहे हैं और पार्टी महत्वपूर्ण राष्ट्रीय मुद्दों के लिए लड़ रही है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस में शामिल न हो पाने के दुःख से उबर नहीं पाए PK, फिर से हाईकमान पर निकाला खीझ

राजस्थान कांग्रेस के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा है कि महंगाई हटाओ रैली केंद्र में भाजपा सरकार का पतन होगी। पायलट ने एक बयान में कहा, 'यह 2024 में केंद्र में भाजपा सरकार के पतन का कारक बन जाएगा। सात साल के कुशासन की व्याख्या और मुद्रास्फीति की जांच करनी होगी।' रैली से पहले कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने कहा की महंगाई हटाओ महारैली केंद्र की  मोदी सरकार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का शंखनाद करेगी।

बताया जा रहा है कि इस महारैली में 2 लाख लोग जुटेंगे। विद्याधर नगर स्टेडियम में आयोजित इस रैली के लिए रविवार सुबह से स्टेडियम में हजारों की संख्या में लोग जुटने लगे हैं। भीड़ को देखते हुए जयपुर ट्रैफिक पुलिस ने यातायात के विशेष इंतजाम किए हैं। ऐसे में भारी वाहनों को जयपुर में प्रवेश कराने के बजाय शहर के बाहर से ही डायवर्ट करने का प्लान है। बता दें कि यह रैली पहले दिल्ली के रामलीला मैदान में होना था लेकिन अनुमति नहीं मिलने पर इसे जयपुर शिफ्ट किया गया।