Supreme Court: प्रशांत भूषण के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू

सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को भेजा नोटिस, पांच अगस्त से इस मामले में सुनवाई होगी

Publish: Jul 22, 2020 08:39 PM IST

Supreme Court: प्रशांत भूषण के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू
Pic: Swaraj Express

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ अधिवक्ता और सामाजिक कार्यकर्ता प्रशांत भूषण के खिलाफ अवमानना मामले में कार्यवाही शुरू कर दी है। कोर्ट ने उन्हें और अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल को नोटिस भेजा है। इस मामले में पांच अगस्त से सुनवाई होगी। प्रशांत भूषण के खिलाफ ये कार्यवाही उनके दो ट्वीट को लेकर हो रही है।

प्रशांत भूषण ने एक ट्वीट में कहा था कि पिछले चार सालों में देश के चार प्रधान न्यायाधीशों की लोकतंत्र बर्बाद करने में भूमिका रही है। दूसरे ट्वीट में उन्होंने हार्ले डेविडसन बाइक पर बैठे वर्तमान सीजेआई एस ए बोबडे की फोटो डाली थी। इस फोटो को डालते हुए उन्होंने सीजेआई पर हेलमेट और मास्क ना लगाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि कोर्ट को लॉकडाउन में रखा जा रहा है और लोगों से उनका न्याय का अधिकार छीना जा रहा है। 

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में ट्विटर को भी पक्षकार बनाने के लिए कहा है। हालांकि, ट्विटर की तरफ से पेश हुए वकील ने कहा कि सोशल मीडिया साइट का इस मामले से कोई संबंध नहीं है और कोर्ट अगर निर्देश दे तो ट्विटर प्रशांत भूषण के कथित अवमानना वाले ट्वीट हटा लेगा। इस मामले की सुनवाई जस्टिस अरुण मिश्रा, बी आर गवई और कृष्ण मुरारी की बेंच करेगी। 

पिछले कुछ वक्त में प्रशांत भूषण लगातार सुप्रीम कोर्ट की आलोचना करते रहे हैं। कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों के मामले पर सुप्रीम कोर्ट के रवैये से लेकर उन्होंने भीमा-कोरेगांव केस में जेल में बंद कार्यकर्ताओं वरवरा राव और सुधा भारद्वा़ज को दिए जा रहे ट्रीटमेंट पर भी सवाल उठाए हैं। ऐसा दूसरी बार है जब सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही शुरू की है। इसके पहले 2009 में उन्होंने एक मैगज़ीन के इंटरव्यू में तत्कालीन और पूर्व प्रधान न्यायाधीशों के खिलाफ आक्षेप लगाए थे। इस मामले में आखिरी सुनवाई मई, 2012 में हुई थी और यह मामला अभी अटका हुआ है।