लखनऊ: इलाज के अभाव में पिता और पुत्र ने घर में ही तोड़ा दम, घर का दरवाज़ा तोड़ा तो महिला मिली जीवित

यह घटना लखनऊ के कृष्णा नगर की है, पति और बेटे की मौत होने के बाद महिला चिल्लाई भी थी, लेकिन महिला की आवाज़ घर के अंदर ही दब कर रह गई, जबकि कृष्णा नगर में ही पुलिस को एक और शव मिला

Publish: May 02, 2021, 09:54 AM IST

लखनऊ: इलाज के अभाव में पिता और पुत्र ने घर में ही तोड़ा दम, घर का दरवाज़ा तोड़ा तो महिला मिली जीवित
Photo Courtesy: Aaj Tak

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना से हालात इतने बेकाबू हो चले हैं कि इलाज के अभाव में मरीज़ घर में ही दम तोड़ रहे हैं। मरीजों की मौत के बाद शव की बदबू आने पर पड़ोसियों और फिर बाद में पुलिस को पता चल रहा है। राज्य की राजधानी के कृष्णा नगर में शनिवार को दो मामले ऐसे आए। जहां शव की बदबू पड़ोसियों तक पहुंचने के बाद मरीजों के मौत की जानकारी मिली। 

कृष्णा नगर के एलडीए कॉलोनी के सेक्टर सी 1 में पिता और पुत्र की लाश मिली। घर से शव की बदबू बाहर आने पर जब पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना तब घर का दरवाज़ा तोड़ने पर दोनों पिता पुत्र का शव मिला। इस दौरान घर में ही कोरोना से संक्रमित एक बर्जुर्ग महिला गंभीर हालत में पड़ी हुई थी। 

दरअसल 65 वर्षीय अरविंद गोयल, 25 वर्षीय उनका पुत्र ईलू गोयल और अरविंद गोयल की पत्नी रंजना गोयल हाल ही में कोरोना से संक्रमित हुए थे। वे सभी घर में क्वारंटाइन थे। लेकिन कोरोना के संक्रमण ने पिता और पुत्र की जान ले ली। चूंकि महिला विकलांग हैं इसलिए वे किसी भी बाहरी व्यक्ति को फोन कर सूचित नहीं कर पाईं। महिला की लोगों को सूचित करने के लिए चीखी और चिल्लाई भी लेकिन महिला की आवाज़ घर में ही दब कर रह गई। 

पिता और पुत्र के शव की बदबू जब पड़ोसियों तक पहुंची तब उन्होंने पुलिस को आनन फानन में सूचना दी। पुलिस के आने पर घर के दरवाज़े को तोड़ा गया। घर में दाखिल होने पर पिता और पुत्र दोनों ही बदहवास पड़े हुए थे। दोनों की मौत हो चुकी थी। लेकिन महिला की सांसें अभी भी चल रही थीं। महिला नाज़ुक हालत में थी लिहाज़ा पुलिस ने महिला को इलाज के लिए लोकबंधु अस्पताल भेजा गया। चूंकि पिता और पुत्र के अन्य परिजनों के बारे में पुलिस को जानजारी नहीं है, इसलिए दोनों का अंतिम संस्कार पुलिस द्वारा ही किया जाएगा। 

पड़ोस में ही सेक्टर डी 1 में एक अन्य व्यक्ति की लाश मिली। शव की शिनाख्त विवेक शर्मा के रूप में हुई। विवेक हाल ही में कोरोना से संक्रमित हुआ था और घर में ही होम क्वारंटाइन था। पड़ोसियों ने कुशीनगर में रहने वाले उसके एक रिश्तेदार को विवेक की मौत की सूचना दी। बनारस और कोलकाता में रहने वाले विवेक की बहन और भाई को सूचना दे दी गई है।