दिल्ली: भलस्वा लैंडफिल साइट पर फिर लगी आग, फायर ब्रिगेड कि 12 गाडियां आग बुझाने में जुटीं

अग्निशमन विभाग के अनुसार उसे शुक्रवार की दोपहर करीब पौने दो बजे लैंडफिल साइट पर आग लगने की सूचना मिली। इसके बाद आग बुझाने के लिए एक के बाद एक करके 12 गाड़ियां भेजी गई

Updated: Jun 04, 2022, 09:08 AM IST

दिल्ली: भलस्वा लैंडफिल साइट पर फिर लगी आग, फायर ब्रिगेड कि 12 गाडियां आग बुझाने में जुटीं

नई दिल्ली। दिल्ली के भलस्वा लैंडफिल साइट पर शुक्रवार को भीषण आग लग गई। सूचना के बाद मौके पर फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियां आग बुझाने में जुटीं हैं। आग लगने से चारों तरफ धुएं के बादल नजर आने लगे। चार फीट की दूरी तक सब कुछ धुंधला हो गया। वहीं, आग के चलते आसपास के इलाकों में जहरीला धुआं फैलने लगा। दिल्ली फायर सर्विस के निदेशक अतुल गर्ग के मुताबिक, सूचना मिलते ही फौरन फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियां मौके पर भेजी गईं। आग को बुझाने का प्रयास जा जारी है।

अग्निशमन विभाग के अनुसार उसे शुक्रवार की दोपहर करीब पौने दो बजे लैंडफिल साइट पर आग लगने की सूचना मिली। इसके बाद आग बुझाने के लिए एक के बाद एक करके करीब 12 गाड़ियां भेजी गई, लेकिन देर शाम तक विभाग के कर्मचारी आग बुझाने में कामयाब नहीं हो सके और वे रात को भी आग बुझाने में लगे रहे। बता दें कि यहां पर करीब डेढ़ माह से आग लगने की घटना लगातार हो रही है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, भलस्वा लैंडफिल साइट पर भड़की आग 39 दिन पहले लगी है, जो धधक रही है। गर्मी के कारण कूड़ा सूख जाने से शुक्रवार को धधकती हुई चिंगारियों ने आग का विकराल रूप ले लिया। दो दिन पहले ही पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने भलस्वा लैंडफिल साइट का पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया था। उन्होंने कहा था कि कूड़े के पहाड़ों से लगातार निकल रही मीथेन गैस, दिल्ली में बढ़ रहे तापमान और शुष्क वायुमंडल लैंडफिल साइट लगातार लग रही आग के मुख्य कारणों में शामिल हैं। 

लैंडफिल साइट पर लगने वाली आग की घटनाओं से न केवल दिल्ली में प्रदूषण को बढ़ावा देती हैं, बल्कि दिल्ली वालों के स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। जिसके बाद उन्होंने निगम को 9 प्रमुख बिंदुओं पर कार्य योजना पर कार्य करने के निर्देश दिए हैं, जिससे भविष्य में लैंडफिल साइटों पर आग की घटनाओं को रोका जा सके। दरअसल, कचरे में आग लगने के कारण उसे बुझाने में काफी दिक्कत आती है, क्योंकि कचरे में रह रहकर आग बढ़ जाती है।