प्रतिबंध के बावजूद दिल्ली-एनसीआर में जमकर हुई आतिशबाजी, हवा हुई जहरीली

सीपीसीबी के अनुसार दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में एक्यूआई 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया, ज्यादातर जगहों पर एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार है।

Updated: Oct 25, 2022, 10:05 AM IST

प्रतिबंध के बावजूद दिल्ली-एनसीआर में जमकर हुई आतिशबाजी, हवा हुई जहरीली

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पटाखे चलाने पर लगी पाबंदी का उल्लंघन करते हुए दिल्लीवासियों ने दीवाली की रात जमकर आतिशबाज़ी की। रातभर बेहद तेज़ आवाज़ वाले पटाखे फोड़े गए। नतीजतन अगली सुबह राजधानी की हवा जहरीली हो गई। स्थिति ये है कि लोगों को खुले आकाश में भी दम घुट रहा है।

दिल्ली-एनसीआर में रात के परवान चढ़ने के साथ ही पटाखों की आवाज़ तेज़ होती गई और इसने अनुमति प्राप्त डेसिबल सीमा का भी उल्लंघन किया। लोगों को पटाखे चलाने से रोकने के लिए नियम बनाए जाने के बावजूद शाम होते ही दक्षिण से लेकर उत्तर पूर्वी और उत्तर पश्चिम दिल्ली समेत शहर के विभिन्न इलाकों में लोगों ने आतिशबाज़ी शुरू कर दी। यही हाल नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम में भी था।

दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर जगहों पर एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 300 के पार पहुंच गया है। AQI 300 को बेहद खराब श्रेणी में रखा गया है। दिल्ली के द्वारका में AQI 318, आईटीओ पर 332, सीरी फोर्ट- 335, आर के पुरम- 360, पंजाबी बाग- 337, नॉर्थ कैंपस- 386, नेहरू नगर- 371, जहांगीरपुरी- 348, आनंद विहार- 363 दर्ज किया गया।

एनसीआर की बात करें तो गाजियाबाद में एक्यूआई 301, नोएडा में 303, ग्रेटर नोएडा में 270 रहा जबकि गुरुग्राम में 325 और फरीदाबाद में 256 दर्ज किया गया। बढ़ते प्रदूषण से लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। खासकर उन लोगों को और ज्यादा परेशानी हो सकती है, जिनको सांस संबंधी कोई बीमारी है।