सूरत की प्रिंटिंग मिल में गैस रिसने से आधा दर्जन कर्मचारियों की मौत, 25 गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

गुजरात के सूरत स्थित विश्व प्रेम डाइंग एंड प्रिंटिंग मिल के पास नाले में अज्ञात टैंकर खाली करते वक्त रिसी जहरीली गैस, फायर ब्रिगेड ने वाल्व बंद कर गैस रिसाव रोका, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हादसे पर जताया दुख, दुर्घटना की जांच की मांग की

Updated: Jan 06, 2022, 11:19 AM IST

सूरत की प्रिंटिंग मिल में गैस रिसने से आधा दर्जन कर्मचारियों की मौत, 25 गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती
Photo Courtesy: aajtak

सूरत। जिले की एक कपड़ा मिल में बड़ा हादसा हो गया। विश्व प्रेम डाइंग एंड प्रिंटिंग मिल के पास गुरुवार तड़के जहरीली गैस लीक हो गई। जिसकी चपेट में आने से मिल के 6 कर्मचारियों की मौत हो गई। दम घुटने से 25 से ज्यादा लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि मिल के पास टैंकर से गैस रिसने से यहा हादसा हुआ। यहां पर पास में ही एक नाला है, जहां एक अज्ञात टैंकर का ड्राइवर नाले में जहरीला कैमिकल डाल रहा था। तभी जहरीली गैस रिसने लगी। इस गैस की चपेट में मिल के कर्मचारी भी आ गए। दम घुटने से मिल में अफरातफरी मच गई। मामले की खबर पुलिस को दी गई। पुलिस औऱ मिल प्रबंधन की ओर से गंभीर हालत में लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया। जिनमें से 6 लोगों को मृत घोषित कर दिया गया है। करीब 25 का इलाज जारी है। इनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

और पढ़ें: प्रियंका गांधी कैसे बढ़ाएगी शिवराज मामा का संकट

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर हादसे में मारे गए लोगों को प्रति शोक संवेदना जताई है। हादसे की जांच की मांग की है ताकि इस तरह की कोई घटना दोबारा नहीं हो। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है जांच जारी है।  

यह हादसा तड़के करीब साढ़े चार की है। मामले की खबर पाकर पुलिस औ फायर ब्रिगेड ने रेस्क्यू ऑपरेशन किया। शुरुआत में कई कर्मचारियों को सांस लेने में तकलीफ हुई। जिसके बाद वे बेहोश होने लगे। फायर ब्रिगेड़ के कर्मचारियों ने टैंकर के वाल्व बंद कर गैस रिसाव पर कंट्रोल किया।