पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले बड़ा एलान, नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन पर मनेगा पराक्रम दिवस

इस साल नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 125वां जयंती वर्ष है, भारत सरकार ने नेताजी के जन्मदिन पर हर साल पराक्रम दिवस मनाने का एलान किया है, पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव इसी साल होने हैं

Updated: Jan 19, 2021, 12:26 PM IST

पश्चिम बंगाल चुनाव से पहले बड़ा एलान,  नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन पर मनेगा पराक्रम दिवस
Photo Courtesy: Zee News

नई दिल्ली। स्वतंत्रता सेनानी और आज़ाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को अब हर साल पराक्रम दिवस के तौर पर मनाया जाएगा। संस्कृति मंत्रालय ने इस बात की घोषणा की है। संस्कृति मंत्रालय ने यह ऐलान किया है कि भारत के प्रति नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अद्वितीय योगदान को देखते हुए उनके जन्मदिन के अवसर पर हर वर्ष पराक्रम दिवस मनाया जाएगा। 

दरअसल इस वर्ष नेताजी सुभाष चंद्र बोस का 125वां जयंती वर्ष है। लिहाज़ा 23 जनवरी से शुरू होने वाले इस जयंती वर्ष को भव्य तौर पर मनाने के लिए तैयारियां की जा रही हैं। भारत सरकार जयंती वर्ष को राष्ट्रीय स्तर के साथ साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी ले जाने की तैयारी कर रही है।  

भारत सरकार ने नेताजी बोस के जयंती वर्ष के दौरान आयोजनों की रूपरेखा तैयार करने के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटी भी बनाई है। कमेटी की अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री कर रहे हैं। प्रधानमंत्री के अलावा इस कमेटी में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी, फिल्म अभिनेत्री काजोल और संगीतकार एआर रहमान शामिल हैं। नेताजी बोस के जन्म दिवस समारोह का उद्घाटन खुद प्रधानमंत्री मोदी कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में करेंगे।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस हालांकि पूरे देश के नायक हैं, लेकिन पश्चिम बंगाल से उनके विशेष जुड़ाव के कारण राज्य में उनके नाम पर भावनाओं की सियासत हमेशा होती रही है। इस साल पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव भी होने हैं। जाहिर है ऐसे में उनके नाम पर किए जा रहे एलानों को बीजेपी की चुनावी फायदा उठाने की कोशिश के तौर पर भी ज़रूर देखा जाएगा।