PM Modi के बर्थडे पर वैक्सीनेशन का वर्ल्ड रिकॉर्ड, एक दिन में लगा दिए ऑस्ट्रेलिया की आबादी के बराबर टीके

देशभर में 17 सितंबर को दी गई 2.5 करोड़ से ज्यादा खुराक, भारत ने चीन को भी पीछे छोड़ा, कर्नाटक में लगे सर्वाधिक 26.9 लाख डोज, पीएम मोदी ने की स्वास्थ्यकर्मियों की सराहना

Updated: Sep 18, 2021, 09:22 AM IST

PM Modi के बर्थडे पर वैक्सीनेशन का वर्ल्ड रिकॉर्ड, एक दिन में लगा दिए ऑस्ट्रेलिया की आबादी के बराबर टीके
Photo Courtesy: News18

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने वर्ल्ड रिकॉर्ड स्थापित किया है। भारत में शुक्रवार को रिकॉर्ड 2.50 करोड़ से अधिक टीके लगाए गए। इससे पहले एक दिन में 1.33 करोड़ टीके लगाने का रिकॉर्ड बना था। भारत की इस कीर्तिमान ने चीन को भी पछाड़ दिया है। चीन के पास एक दिन में करीब 2.47 करोड़ टीके लगाने का रिकॉर्ड है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 2 करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य शाम पांच बजे तक ही पूरा कर लिया गया था। 

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने एक दिन में 2.50 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन लगाने के रिकॉर्ड को देश की ओर से पीएम मोदी को बर्थडे का उपहार बताया है। पीएम मोदी ने भी इस मौके पर ट्वीट कर स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना की है। मोदी ने ट्वीट किया, 'हर भारतीय आज रिकार्ड संख्या में किये गये टीकाकरण को लेकर गौरवान्वित होगा। मैं टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए हमारे चिकित्सकों, प्रशासकों, नर्सों, स्वास्थ्य सेवा और अग्रिम मोर्चे के सभी कर्मियों की सराहना करता हूं। कोविड-19 को हराने के लिए टीकाकरण को बढ़ावा देते रहें।'

दरअसल, स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को ही ट्वीट कर कहा था कि पीएम मोदी ने सबको मुफ्त वैक्सीन की सौगात दी है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया था कि पीएम के जन्मदिन पर रिकॉर्ड संख्या में वैक्सीन लगवाकर उन्हें उपहार दिया जाए। स्वास्थ्य मंत्री ने इसे वैक्सीन सेवा नाम दिया था। रिकॉर्ड स्थापित होने के बाद उन्होंने ट्वीट किया, 'बधाई भारत, पीएम मोदी के जन्मदिवस पर भारत ने आज इतिहास रच दिया है। 2.50 करोड़ से अधिक टीके लगा कर देश और विश्व के इतिहास में स्वर्णिम अध्याय लिखा है। आज का दिन हेल्थकर्मियों के नाम रहा।' 

वैक्सीनेशन का यह रिकॉर्ड इसलिए अहम है क्योंकि देश में ऑस्ट्रेलिया की कुल जनसंख्या के बराबर टीके एक दिन में लगाए गए हैं। इतना ही नहीं करीब 123 देशों की आबादी इससे कम है। राज्यों की बात करें तो कर्नाटक ने देश में सर्वाधिक 26.9 लाख खुराक लगी, दूसरे नंबर पर बिहार रहा जहां 26.6 लाख से अधिक खुराक दी गई। उधर उत्तर प्रदेश  में 24.8 लाख से अधिक खुराक, मध्य प्रदेश में 23.7 लाख से अधिक खुराक और गुजरात में 20.4 लाख से अधिक खुराक दी गई।