भारत जोड़ो यात्रा के लिए सभी राज्यों से मिट्टी-पानी लेकर आएंगे पदयात्री, AICC में मीडिया से मुखातिब हुए दिग्विजय सिंह

सोमवार को एआईसीसी मुख्यालय में आयोजित बैठक के बाद वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मीडिया को बताया कि 7 सितंबर को शाम 5 बजे कन्याकुमारी में एक पब्लिक रैली के बाद 8 सितंबर, सुबह 7 बजे से यात्रा की शुरुआत होगा और 5 महीनों में हम घर-घर तक जुड़ने का प्रयास करेंगे

Updated: Aug 30, 2022, 11:29 AM IST

भारत जोड़ो यात्रा के लिए सभी राज्यों से मिट्टी-पानी लेकर आएंगे पदयात्री, AICC में मीडिया से मुखातिब हुए दिग्विजय सिंह

नई दिल्ली। कांग्रेस कांग्रेस की ओर से प्रस्तावित "भारत जोड़ो यात्रा" की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। इस यात्रा के लिए दिग्विजय सिंह की अध्यक्षता में गठित सेंट्रल प्लानिंग ग्रुप ने आज AICC दफ्तर में राज्य प्रभारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। इस दौरान यात्रा से जुड़े तमाम पहलुओं पर चर्चा की गई। बैठक के उपरांत राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह, जयराम रमेश और केसी वेणुगोपाल मीडिया से मुखातिब हुए।

मीडिया को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि, 'देश में पहली बार इतना व्यापक और बड़ा जनसंपर्क अभियान - कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक की पदयात्रा का आयोजन किया गया है। इसमें आगामी 7 सितंबर को शाम 5 बजे कन्याकुमारी में एक पब्लिक रैली आयोजित होगी जिसमें राहुल गांधी जी भी शामिल होंगे। इस यात्रा में तीन तरह के पदयात्री होंगे। 100 पदयात्री ऐसे होंगे जो कन्याकुमारी से कश्मीर तक चलेंगे, 100 पदयात्री उन राज्यों के होंगे जिन राज्यों से यह यात्रा नहीं गुजर रही व 100 पदयात्री वहां के होंगे जिन राज्यों से यह पदयात्रा गुजर रही है।'

सिंह ने आगे बताया कि, 'आगामी 7 सितंबर को जब शाम 5 बजे रैली होगी तो हर ब्लॉक में सर्वधर्म प्रार्थना होगी और हमारी वेबसाइट पर इसकी लाइव स्ट्रीमिंग होगी। 8 सितंबर को सुबह 7 बजे हमारी पदयात्रा शुरू होगी, जिसमें हम हर ब्लॉक में 10 किलोमीटर की पदयात्रा करेंगे। हमारा लक्ष्य है कि इन 5 महीने में हर घर-परिवार तक हमारा जनसंपर्क हो।'

सिंह ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'जिस तरह हमारी धार्मिक समरसता को बिगाड़ा जा रहा है, हमारे आर्थिक हालात बिगड़ रहे हैं, गरीब और अमीर के बीच की खाई बढ़ रही है, कुछ चुने हुए लोगों के लाखों करोड़ के कर्ज माफ हो रहे हैं। इन सब बातों को हमें जनता तक पहुंचाना है।' कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि, 'जिन राज्यों से यह यात्रा नहीं गुजर रही, वहां की मिट्टी और वहां का पानी, उन राज्यों के पदयात्री लेकर आएंगे। उस मिट्टी व पानी का उपयोग हम पौधरोपण के लिए करेंगे ताकि हमारी पदयात्रा की स्मृति उन क्षेत्रों में भी बनी रहे।'

इस दौरान वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि, 'यह एक ऐतिहासिक और विशाल पदयात्रा होने जा रही है। आजादी के बाद से इस प्रकार की यात्रा करने वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस एकमात्र राजनीतिक दल है। इसलिए बीजेपी इस यात्रा को लेकर काफी चिंतित है। हमें पता है कि बीजेपी हमें इस यात्रा से भटकाने कि तमाम कोशिशें करेगी। बावजूद कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पूरे उत्साह के साथ इस यात्रा से जुड़ेंगे।'