यह राज्यसभा है कोई बिहार विधानसभा नहीं, अनिल देशमुख का इस्तीफ़ा मांगने वाले सुशील मोदी पर बरसे अखिलेश सिंह

राज्यसभा में आज बीजेपी नेताओं जमकर हंगामा किया, बीजेपी के नेता महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफ़ा मांग रहे थे

Updated: Mar 23, 2021, 03:12 PM IST

यह राज्यसभा है कोई बिहार विधानसभा नहीं,  अनिल देशमुख का इस्तीफ़ा मांगने वाले सुशील मोदी पर बरसे अखिलेश सिंह
Photo Courtesy : Times Of India

नई दिल्ली/मुंबई। भ्रष्टाचार मामले में आरोप झेल रहे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग आज संसद के ऊपरी सदन में भी उठी। बिहार बीजेपी के नेता और राज्यसभा सांसद सुशील मोदी सहित बीजेपी के तमाम नेताओं ने अनिल देशमुख का इस्तीफ़ा माँगा। बीजेपी नेताओं ने अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग पर कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह ने सुशील मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि यह राज्यसभा है कोई बिहार विधानसभा नहीं।  

कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह ने सुशील मोदी और बीजेपी के नेताओं की मांग को बेतुका करार दिया। कांग्रेस नेता ने कहा कि राज्यसभा नियम और कानूनों से चलती है। सदन में राज्यों के सवाल नहीं उठाए जा सकते। इसके साथ ही अखिलेश सिंह ने देशमुख के इस्तीफे की मांग कर रहे महाराष्ट्र के बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस को लेकर कहा कि देवेंद्र फडणवीस को यह समझ में आना चाहिए कि केंद्र में उनकी सरकार है। इसलिए वे जिस जांच एजेंसी से चाहें मामले की जांच करा सकते हैं।  

यह भी पढ़ें: अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद मुंबई गए थे अनिल देशमुख, मीडिया रिपोर्ट्स में हुआ खुलासा

अखिलेश सिंह ने कहा कि इस मामले में राजनीति नहीं होनी चाहिए। अखिलेश सिंह ने कहा कि मामले की जांच में अगर कोई दोषी पाया जाएगा तब निश्चित ही उसका इस्तीफ़ा लिया जाएगा।  

यह भी पढ़ें: शरद पवार: अनिल देशमुख नहीं देंगे इस्तीफ़ा, परमबीर सिंह ने ट्रांसफर के कारण लगाए झूठे आरोप

उद्धव सरकार में गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगे आरोपों के मामले में प्रति दिन एक नया मोड़ आ रहा है। एक तरफ जहाँ शरद पवार और खुद अनिल देशमुख फरवरी महीने में सचिन वाझे से की गई मुलाक़ात के दावों का खंडन कर चुके हैं तो वहीं मीडिया रिपोर्ट्स में फरवरी मध्य में अनिल देशमुख की मुंबई यात्रा का दावा किया गया है। दूसरी तरफ गृह मंत्री के खिलाफ पैसों की उगाही करने का आदेश देने का आरोप लगाने वाले पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह सुप्रीम कोर्ट पहुँच गए हैं। परमबीर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट से अपना ट्रांसफर रुकवाने की मांग की है। और साथ उच्चतम न्यायालय से कहा है कि इस मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई से कराई जाए।