लखीमपुर खीरी में दलित बच्चियों से रेप और हत्या, पुलिस ने एक आरोपी के पैर में मारी गोली

पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके जानकारी दी कि आरोपियों ने पहले लड़कियों से दोस्ती की और फिर रेप के बाद हत्या कर दी। दो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल लिया है। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं। आरोपियों ने साक्ष्यों को मिटाने के लिए फंदे से लटका दिया।

Updated: Sep 15, 2022, 11:14 AM IST

लखीमपुर खीरी में दलित बच्चियों से रेप और हत्या, पुलिस ने एक आरोपी के पैर में मारी गोली

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में दो सगी नाबालिग दलित बहनों की पेड़ पर लटकती लाश मिलने के बाद तनाव का माहौल है।इस मामले में पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि आरोपियों ने पहले लड़कियों से दोस्ती की और फिर रेप के बाद हत्या कर दी।

पुलिस के मुताबिक दो आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल लिया है। दोनों लड़कियों की हत्या गला दबाकर की गई और हत्या के बाद आरोपियों ने सबूत मिटाने के लिए उन्हें पेड़ से लटका दिया गया। पुलिस ने दावा किया है कि आरोपी दोनों बहनों को बहला-फुसलाकर खेत में ले गए थे। लड़कियों का अपहरण नहीं हुआ था। हालांकि, यह जरूर स्वीकारा है कि आरोपियों ने लड़कियों की मर्जी के खिलाफ संबंध बनाए थे।

पुलिस ने कहा है कि परिवार की मौजूदगी में ही पोस्टमार्टम होगा और वीडियोग्राफी भी होगी। पुलिस ने इस मामले के 6 आरोपियों को हिरासत में लिया है। इनमें एक हिंदू व अन्य पांच आरोपी मुस्लिम हैं। सभी के खिलाफ धारा 302, 306 और POCSO के तहत केस दर्ज किया गया है। आरोपियों में छोटू गौतम, जुनैद, सुहैल, करीमुद्दीन, आरिफ, हफीर्जुहमान शामिल है। 

पुलिस का कहना है कि छोटू ने बाकी युवकों से लड़कियों की दोस्ती कराई है। वो घटना के वक्त मौजूद नहीं था। छोटू लड़कियों का पड़ोसी है जबकि अन्य लालपुरा के रहने वाले हैं। लड़कियां जुनैद और सुहैल से शादी करना चाहती थीं। छोटी बहन की सोहेल से दोस्ती थी। बड़ी लड़की की दोस्ती जुनैद से थी। पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सोहेल और जुनैद ने लड़कियों के साथ जबरन संबंध बनाए। 

इसके बाद सोहेल, जुनैद समेत तीन आरोपियों ने दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद दो अन्य आरोपियों को बुलाया गया और लड़कियों को दूसरी जगह ले जाकर पेड़ से लटका दिया। पुलिस ने एक आरोपी जुनैद के पैर में गोली भी मारी है। फिलहाल इलाके में तनाव का माहौल है। 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट किया, 'लखीमपुर में दो बहनों की हत्या की घटना दिल दहलाने वाली है। परिजनों का कहना है कि उन लड़कियों का दिनदहाड़े अपहरण किया गया था। रोज अखबारों व टीवी में झूठे विज्ञापन देने से कानून व्यवस्था अच्छी नहीं हो जाती। आखिर यूपी में महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराध क्यों बढ़ते जा रहे हैं? कब जागेगी सरकार?'