कांग्रेस के लिए आगे की राह पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है: CPP की बैठक में बोलीं सोनिया गांधी

सोनिया गांधी ने कहा कि कहा कि इस समय कांग्रेस के नेता आपसी मतभेद भुला कर पार्टी को मजबूत करें, क्योंकि देश के लिए कांग्रेस की वापसी देश के लोकतंत्र के लिए जरूरी है

Updated: Apr 05, 2022, 01:56 PM IST

कांग्रेस के लिए आगे की राह पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है: CPP की बैठक में बोलीं सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को संसद भवन में कांग्रेस संसदीय दल (CPP) की बैठक को संबोधित किया। इस दौरान सोनिया गांधी ने कहा की कांग्रेस के लिए आगे की राह पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है। हमारी, लचीलेपन की भावना की कड़ी परीक्षा है। कांग्रेस की वापसी केवल हमारे लिए महत्वपूर्ण है, बल्कि यह देश के लोकतंत्र और समाज के लिए भी आवश्यक है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के भीतर हर स्तर पर एकजुटता की जरूरत पर जोर देते हुए कहा कि, 'यही वक्त है कि कांग्रेस के नेता आपसी मतभेद भुला कर पार्टी को मजबूत करें। देश में बीजेपी की विभाजनकारी नीति चल रही है। ये बाज नहीं आ रहे हैं। हमें जमीन पर संघर्ष करने की जरूरत है।' उन्होंने कांग्रेस नेताओं से महंगाई के खिलाफ अपनी आवाज को पुरजोर तरीके से उठाने की बात कही।

यह भी पढ़ें: 15 दिनों में 13वीं बार बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, आज 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी

सोनिया गांधी ने कांग्रेस नेताओं से कहा कि पार्टी में एकता सर्वोपरि है और मैं इसे सुनिश्चित करने के लिए हर कदम उठाने को तैयार हूं। जो सुझाव मिले हैं , उनपर काम कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस कार्य समिति की हालिया बैठक का उल्लेख करते हुए कहा कि वह इससे अवगत हैं कि पिछले दिनों हुए विधानसभा चुनावों में हार से कांग्रेस नेता कितने निराश हैं। उन्होंने चिंतन शिविर आयोजित करने की जरूरत पर भी जोर दिया।

सोनिया गांधी ने कहा कि चिंतन शिविर आयोजित करना बेहद जरूरी है, ताकि लोग अपनी बात कह सकें और पार्टी को चलाने के लिए एक रोड मैप तैयार हो सके। उन्होंने बताया कि सीडब्ल्यूसी मीटिंग जल्द बुलाया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि, 'हमारे चार बहुत वरिष्ठ और अनुभवी सहयोगी अभी हाल ही में राज्यसभा से सेवानिवृत्त हुए हैं। उनमें से प्रत्येक ने अपने कार्यकाल के दौरान बहुत योगदान दिया है। मैं उन सभी को धन्यवाद देती हूं। मुझे विश्वास है कि वे सभी सार्वजनिक और राजनीतिक जीवन में किसी न किसी तरह से जुड़े रहेंगे और हमारी पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करना जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ें: MP: पंद्रह दिन में कांग्रेस तैयार करेगी चुनाव का रोडमैप, 20 अप्रैल को दूसरी बैठक

कांग्रेस नेता ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा की सत्तारूढ़ प्रतिष्ठान विपक्ष को लगातार निशाना बना रहा है। ऐसी धमकियां और हथकंडे न तो हमें डरा पाएंगे और न ही चुप करा पाएंगे। हम बीजेपी को, सदियों से हमारे विविधतापूर्ण समाज को एकजुट रखने और समृद्ध करने वाले सौहार्द व सद्भाव के बंधन को नुकसान नहीं पहुंचाने देंगे। उन्होंने सत्तारूढ़ दल पर विभाजनकारी एजेंडा अपनाने और उस एजेंडे में जान फूंकने के लिए इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया।