SBI Online Services: घंटों की अफरातफरी के बाद सुधरी एसबीआई ऑनलाइन सेवा, ग्राहकों ने ली राहत की सांस

SBI Core Banking System: मंगलवार को एसबीआई की ऑनलाइन बैंकिंग सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित रहीं, हालांकि एटीएम सेवा और पीओएस के जरिए लेनदेन हो रहे थे

Updated: Oct 13, 2020, 10:14 PM IST

SBI Online Services: घंटों की अफरातफरी के बाद सुधरी एसबीआई ऑनलाइन सेवा, ग्राहकों ने ली राहत की सांस
Photo courtesy: @theofficialsbi

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ( एसबीआई ) की ऑनलाइन सेवाएं मंगलवर को कई घंटे रुकी रहीं। सुबह सुबह एसबीआई ने अपने ग्राहकों को ट्वीट करके असुविधा के लिए खेद जताया तो ऑनलाइव कारोबार करनेवालों में बेचैनी छा गई। देश की बैंकिंग सेवाओं के बुरे दौर से गुजरने के वक्त में एसबीआई का घंटों बंद रहना लोगों के लिए कौतूहल और बेचैनी का सबब रहा। बहरहाल अब एसबीआई ने दावा किया है कि उसकी ऑनलाइन सेवाएं बहाल हो गई हैं। लेकिन देश के सबसे बड़े बैंक में इस तरह की गड़बड़ी ग्राहकों के बीच तमाम तरह की शंकाओं को जन्म दे गई। घंटों गुज़र जाने के बावजूद एसबीआई के ट्विटर एकाउंट पर पुराना ट्वीट चस्पा रहा और लगभग पूरे दिन सुधार के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। एसबीआई की ऑनलाइन सेवा के लिए इंटरनेट पर भी मेंटिनेंस का मैसेज लिखा दिखता रहा। जिसमें लिखा था कि एसबीआई सुरक्षा के लिए सर्वर पर कुछ बदलाव कर रहा है। जैसे कि एक संदेश स्क्रॉल होता रहा कि एसबीआई अब .com की जगह .sbi होने की प्रक्रिया में है। हालांकि बैंक के मुताबिक उसके एटीएम और पीओएस सर्विसेज चल रहे थे। 

इससे पहले एसबीआई ने ग्राहकों से चिंता में न पड़ने की अपील की। एसबीआई ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर बताया कि दोपहर तक एसबीआई की ऑनलाइन सेवाएं बहाल हो जाएंगी। और ग्राहक एटीएम और पीओएस मशीन सुविधाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ग्राहकों को इस सुविधा के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। मुश्किल ये रही कि एटीएम आदि के द्वारा ट्रांजैक्शन की सीमाएं हैं। कारोबार के लिए बड़े ट्रांजैक्शन्स नहीं किए जा सकते।

और पढ़ें: SBI ने की 414 करोड़ के घपले की शिकायत

एसबीआई योनो की सर्विसेज भी प्रभावित रही। अनेक ग्राहक अपने एकाउंट डीटेल्स इस पर नहीं चेक कर पा रहे थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ दिनों से एसबीआई योनो की सर्विसेज में भी मेंटिनेंस का काम चल रहा है। बीते दिनों कई बार इस तरह की शिकायतें देखी गई हैं। 

बहरहाल, बैंक का दावा है कि अब इस समस्या से समाधान निकाला जा चुका है। एसबीआई भारत का सबसे बड़ा कमर्शियल बैंक है। देश भर में इसके 22 हजार से भी ज्यादा ब्रांच हैं और सबसे ज़्यादा उधारी देने वाला बैंक भी एसबीआई ही है। 30 जून तक भारतीय स्टेट बैंक के पास कुल 34 लाख करोड़ की डिपॉज़िट थी। देश भर में एसबीआई के 22 हज़ार से ज़्यादा शाखाएं हैं। एसबीआई की शाखाएं 30 से ज़्यादा देशों में हैं। 6 करोड़ से ज़्यादा लोग एसबीआई की मोबाइल बैंकिंग और एटीएम की सेवाओं का उपयोग करते हैं।