इंदिरा जयंती: सोनिया और राहुल गांधी समेत कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

दिल्ली में इंदिरा गांधी की समाधि शक्ति स्थल पर जाकर दी श्रद्धांजलि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी किया याद

Updated: Nov 19, 2020, 02:18 PM IST

इंदिरा जयंती: सोनिया और राहुल गांधी समेत कई दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि
Photo Courtesy: Amarujala

देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आज जयंती है। इस मौके पर राहुल गांधी और सोनिया गांधी समेत कई अन्य नेताओं ने उन्हें याद किया। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने नई दिल्ली में स्वर्गीय इंदिरा गांधी की समाधि शक्ति स्थल पर जाकर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर 1917 को हुआ था। उन्हें आयरन लेडी के नाम से भी जाना जाता है।

राहुल गांधी ने अपनी दादी को याद करते हुए लिखा, 'एक कार्यकुशल प्रधानमंत्री और शक्ति स्वरूपा श्रीमती इंदिरा गांधी जी की जयंती पर श्रद्धांजलि। पूरा देश उनके प्रभावशाली नेतृत्व की आज भी मिसाल देता है लेकिन मैं उन्हें हमेशा अपनी प्यारी दादी के रूप में याद करता हूं। उनकी सिखाई हुई बातें मुझे निरंतर प्रेरित करती हैं।'

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, 'विश्व भर में लौह महिला कहलाई जाने वाली, दृढ निश्चय, साहस व अद्भुत क्षमता वाली, भारत की प्रथम व एक मात्र महिला प्रधानमंत्री, श्रीमती इंदिरा गांधी जी की जयंती पर उन्हें शत शत नमन। अपनी प्रतिभा व राजनीतिक दृढ़ता के लिए विश्वराजनीति के इतिहास में इंदिरा जी का नाम सदैव याद रखा जाएगा।'

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा, ‘इंदिरा गांधी जी सशक्त, समर्थ नेतृत्व और अद्भुत प्रबंधन क्षमता की धनी थीं उनके कार्यकाल में भारत ने विकास के नव आयाम स्थापित किए तथा विश्व पटल पर भारत की छवि को नई पहचान मिली। भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा जी की जयंती पर उन्हें शत्-शत् नमन।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इंदिरा गांधी की जयंती पर उन्हें याद करने की औपचारिकता निभाते हुए ट्विटर पर लिखा, 'पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी को उनकी जयंती पर नमन।’

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की गिनती भारत ही नहीं, पूरी दुनिया की सबसे प्रभावशाली राजनेताओं में होती है। उनके दृढ़ निश्चय और निर्भीक फैसलों की वजह से उन्हें आयरन लेडी कहा जाता है। खास तौर पर बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के दौरान उनके नेतृत्व में पाकिस्तान को जिस तरह धूल चटाई गई, आज खुद को महा-पराक्रमी बताने वाले नेता उसकी कल्पना तक नहीं कर सकते। इसके अलावा बैंकों के राष्ट्रीयकरण से लेकर प्रिवीपर्स की समाप्ति तक, ऐसे अनेक फैसले इंदिरा गांधी ने किए, जो बेहद साहसिक और देश को आगे बढ़ाने वाले थे। जनवरी 1966 से मार्च 1977 तक वह देश की प्रधानमंत्री रहीं और इसके बाद दोबारा 1980 में वे देश की प्रधानमंत्री बनीं। 31 अक्टूबर 1984 को उनकी हत्या कर दी गई थी।