Swami Agnivesh: सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का निधन

Swami Agnivesh Death: सामाजिक मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने वाले स्वामी अग्निवेश ने मजदूरों पर लाठी चार्ज के बाद छोड़ा था मंत्री पद

Updated: Sep 11, 2020 08:12 PM IST

Swami Agnivesh: सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का निधन

नई दिल्ली। सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज के जाने-माने नेता स्वामी अग्निवेश का निधन हो गया है। तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें नई दिल्ली के इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज (आईएलबीएस) में भर्ती करवाया गया था। वे लिवर सिरोसिस से पीड़ित थे और मल्टी ऑर्गन फेल्योर के कारण 8 सितंबर से ही वेंटिलेटर पर थे।

इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज ने स्वामी अग्निवेश के निधन की पुष्टि करते हुए कहा कि स्वामी अग्निवेश को शुक्रवार शाम 6 बजे कार्डियक अरेस्ट हुआ। उन्हें बचाने की भरपूर कोशिश की गई, लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका। उन्होंने शाम 6.30 बजे अंतिम सांस ली।
 

सामाजिक मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने वाले स्वामी अग्निवेश को बेबाक़ विचारों के लिए जाना जाता था 21 सितंबर 1939 को छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में जन्मे स्वामी अग्निवेश ने कोलकाता में कानून और बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई की थी। आर्य समाजी होने के बाद उन्होंने 1970 में आर्य सभा नाम की राजनीतिक पार्टी बनाई थी। 1977 में वह हरियाणा विधानसभा में विधायक चुने गए और हरियाणा सरकार में शिक्षा मंत्री भी रहे। मजदूरों पर लाठी चार्ज की एक घटना के बाद उन्होंने मंत्री पद छोड़ दिया था। 1981 में उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की। उन्होंने 2011 में अन्ना हजारे के नेतृत्व में चले भ्रष्टाचार-विरोधी जन लोकपाल आंदोलन में भी भाग लिया था।