सड़क-सीवेज की समस्या पर नहीं, लव जिहाद पर बात करो: कर्नाटक BJP अध्यक्ष

कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष नलिन कुमार कटील ने मेंगलुरु में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें सड़क और सीवेज की समस्या पर नहीं बल्कि लव जिहाद पर बात करना चाहिए।

Updated: Jan 03, 2023, 03:49 PM IST

सड़क-सीवेज की समस्या पर नहीं, लव जिहाद पर बात करो: कर्नाटक BJP अध्यक्ष

मेंगलुरु। कर्नाटक बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष व सांसद नलिन कुमार कटील चुनाव पूर्व अपने कार्यकर्ताओं को नफरत का पाठ पढ़ाते दिखे। लोकसभा सांसद ने सोमवार को मेंगलुरु में 'बूथ विजय अभियान' में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि लव जिहाद के मुद्दे पर बात करना चाहिए न कि सड़क और सीवेज की समस्याओं पर।

बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, 'मैं आप लोगों से कह रहा हूं कि सड़क और सीवेज जैसे छोटे मुद्दों पर बात न करें। अगर आपको अपने बच्चों के भविष्य की चिंता है और आप लव जिहाद को रोकना चाहते हैं तो इसके लिए भारतीय जनता पार्टी की की जरूरत है। केवल बीजेपी की सरकार ही कानून लाकर 'लव जिहाद' को रोक सकती है। इसलिए लव जिहाद से छुटकारा पाने के लिए हमें बीजेपी को सत्‍ता में बरकरार रखना होगा।'

कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार ने नलिन कुमार कटील के इस नफरती बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा, 'बीजेपी अध्यक्ष ने अच्‍छा बयान नहीं दिया। वह देश को बांटने की कोशिश कर रहे हैं। वे विकास नहीं देख रहे हैं, वे नफरत देख रहे हैं और देश को बांट रहे हैं। वे केवल भावनाओं की बात कर रहे हैं। हम लोगों से विकास की बात कर रहे हैं और यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि उनका पेट भरा रहे। हम रोजगार सृजन चाहते हैं, हम चाहते हैं कि कीमतें काबू में रहें और आम आदमी के लिए कोई समस्या न पनपे। हम लोगों की रोजमर्रा की जरूरतों के बारे में चिंतित हैं।'

यह भी पढ़ें: अडानी-अंबानी ने बड़े से बड़े नेता खरीद लिए, लेकिन मेरे भाई को नहीं खरीद पाए: प्रियंका गांधी

सांप्रदायिक मुद्दों पर बीजेपी को बेनकाब करने की कांग्रेस की योजना को लेकर डीके शिवकुमार ने कहा, 'हम 11 जनवरी से दौरे शुरू कर रहे हैं। हम सभी नुक्कड़ और कोनों की यात्रा करेंगे और समाज के सभी वर्गों से मिलेंगे। बीजेपी ने जो कुछ किया है, हम लोगों को बताएंगे। ये बीजेपी के आखिरी दिन हैं। उनकी बत्ती बुझ जाएगी, हमारी जल जाएगी।'