इंडिया हेड को हटाने के बाद ट्विटर ने अनलॉक किया राहुल गांधी समेत अन्य नेताओं के हैंडल्स, कांग्रेस बोली सत्यमेव जयते

ट्विटर ने राहुल गांधी समेत अन्य कांग्रेस नेताओं और पार्टी के आधिकारिक हैंडल को लॉक कर दिया था, चौतरफा आलोचनाओं के बाद पहले इंडिया हेड को हटाया फिर अभी का अकाउंट अनलॉक किया

Updated: Aug 14, 2021, 07:11 PM IST

इंडिया हेड को हटाने के बाद ट्विटर ने अनलॉक किया राहुल गांधी समेत अन्य नेताओं के हैंडल्स, कांग्रेस बोली सत्यमेव जयते
Photo Courtesy: Twitter

नई दिल्ली। राहुल गांधी और देश की मुख्य विपक्षी पार्टी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर चौतरफा आलोचनाओं का सामना कर रही ट्विटर को आखिरकार सभी हैंडल्स अनलॉक करना पड़ा है। कंपनी के इस कदम के बाद कांग्रेस ने 'सत्यमेव जयते’ लिखा है। इसके पहले ट्विटर ने कांग्रेस से तकरार के बीच कल ही अपने इंडिया हेड को हटा दिया था। 

कांग्रेस सूत्रों ने आज इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि राहुल गांधी का भी हैंडल अनलॉक कर दिया गया है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने ट्विटर अकाउंट बहाल होने के बाद ट्विटर को एक बार फिर निशाने पर लिया है। उन्होंने कंपनी से पूछा है कि आपने मेरा अकाउंट लॉक क्यों किया, जबकि आप मेरा पोस्ट हटा सकते थे? उन्होंने आगे कहा है कि मैंने अपना पोस्ट न तो डिलीट किया और न ही अपील की, फिर आपने मेरा अकाउंट बहाल क्यों किया? आप किसके दबाव में काम कर रहे?' 

जानकारी के मुताबिक ट्विटर ने राहुल गांधी के अकाउंट को अनलॉक करने के बाद उस ट्वीट को सिर्फ भारत में दिखाने से रोका था। लेकिन दुनिया के दूसरे देशों में उसे देखा जा सकता है। दरअसल, कल उस बच्ची की मां भी मीडिया के सामने आई थीं और उन्होंने कहा था कि राहुल के ट्वीट से उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। उन्होंने बताया था कि हमारी सहमति से ही राहुल ने तस्वीर साझा किया। इसके बावजूद ट्विटर ने भारत के कानून का हवाला देते हुए विवादित ट्वीट को देश में न दिखाने की बात कही है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस से तकरार के बीच ट्विटर ने इंडिया हेड को हटाया, हेडक्वार्टर रिपोर्ट करने के आदेश

इसके पहले कल ही ट्विटर ने अपने इंडिया हेड मनीष माहेश्वरी को हटाने के आदेश जारी करते हुए उन्हें हेडक्वार्टर रिपोर्ट करने को कहा था। माहेश्वरी को अब वापस अमेरिका में ही काम करना होगा। ट्विटर के इस फैसले की मुख्य वजह क्या है ये तो फिलहाल सामने नहीं आया है, लेकिन कंपनी ने यह कदम ऐसे समय में उठाया जब देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने ट्विटर के खिलाफ जंग छेड़ दी थी। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं का विरोध देखते हुए कंपनी ने उन्हें इंडिया से बुला लिया।

इंडिया हेड को हटाए जाने से महज कुछ घंटे पहले राहुल गांधी ट्विटर पर जमकर बरसे थे। उन्होंने 'ट्विटर का खतरनाक खेल' शीर्षक के साथ एक वीडियो जारी किया था। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि ट्विटर भारत में कारोबार करने की बजाए राजनीति कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा था कि मैं ट्विटर को अपनी बात रखने का उचित प्लेटफार्म मानता था लेकिन ऐसा नहीं है, वे भी केंद्र की मोदी सरकार के दबाव में काम कर रहे हैं।