चुनाव पूर्व सपा के फाइनेंसर्स पर IT रेड, अखिलेश यादव बोले- अभी ED, CBI का आना बाकी है

लखनऊ, मैनपुरी और आगरा में अखिलेश यादव के करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी, अखिलेश यादव बोले- अभी तो इनकम टैक्स वाले ही आए हैं, ईडी और सीबीआई का आना बाकी है, लेकिन बीजेपी का यहां भी बंगाल वाला हश्र होगा

Updated: Dec 18, 2021, 01:22 PM IST

चुनाव पूर्व सपा के फाइनेंसर्स पर IT रेड, अखिलेश यादव बोले- अभी ED, CBI का आना बाकी है
Photo Courtesy: ABP

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के फाइनेंसर्स पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बड़ी कार्रवाई की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक आईटी डिपार्टमेंट ने अखिलेश यादव के करीबियों के कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि आईटी रेड सुबह सात बजे से चल रहा है। इसी बीच अखिलेश यादव ने मीडिया से कहा है कि मुझे पहले से पता था कि बीजेपी जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करेगी।

समाजवादी विजय यात्रा के लिए निकले अखिलेश यादव ने रायबरेली में पत्रकारों से कहा कि, 'अभी तो सिर्फ IT आया है। अभी  ED और CBI वालों का उत्तर प्रदेश दौरा बाकी है। आपलोग देखते जाइए अभी कौन-कौन लोग दिल्ली से भेजे जाते हैं। चुनावों में हार को देखकर बीजेपी परेशान है। वो चाहे जो कर ले राज्य में उनकी सरकार नहीं बनने वाली। बीजेपी की इन कोशिशों से साइकिल की रफ्तार नहीं रुकेगी। यहां भी बंगाल वाला हश्र होगा। समाजवादी पार्टी की सरकार बनने जा रही है।'

रिपोर्ट्स के मुताबिक मऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय, लखनऊ में जैनेंद्र यादव और मैनपुरी में मनोज यादव के घर छापेमारी चल रही है। सबसे पहले शनिवार सुबह करीब 7 बजे राजीव राय के मऊ में शहादतपुरा स्थित आवास पर छापे की खबर आई थी। राजीव राय के दुबई और बेंगलुरू में मेडिकल कॉलेज हैं। वे RVK ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के चेयरमैन हैं। उन्हें साल 2012 में यूपी में सपा की सरकार बनाने का मुख्य शिल्पकार माना जाता है।

यह भी पढ़ें: PM के सेक्रेटरी द्वारा CEC को समन भेजना चुनाव आयोग का अपमान: पूर्व चीफ एलेक्शन कमिश्नर

उधर लखनऊ में जैनेंद्र यादव के गोमती नगर आवास पर इनकम टैक्स की टीम पहुंची है। अखिलेश से उनके रिश्तों को इसी बात से समझा जा सकता है कि जब अखिलेश सीएम थे तो जैनेंद्र उनके OSD बने थे जैनेंद्र यादव की रियल स्टेट कारोबार में खासी पकड़ है। आगरा लखनऊ और कई अन्य शहरों में जैनेंद्र की करोडों की जमीने हैं। साथ ही वे मिनरल वाटर की फैक्ट्री के भी मालिक हैं। इसके अलावा मैनपुरी में मनोज यादव के घर छापेमारी चल रही है। मानोज RCL ग्रुप के चेयरमैन हैं और उन्हें अखिलेश के कोर टीम का मेंबर माना जाता है। 

इसी बीच खबर आई है की लखनऊ में अखिलेश के एक और करीबी अरबपति कारोबारी मित्र राहुल भसीन के घर भी 12.30 बजे आईटी टीम पहुंची है। भसीन का कपड़ों का बड़ा कारोबार है।