UP: पुलिस हिरासत में मुस्लिम युवक की मौत, पुलिस का तर्क- टोंटी से लटककर की आत्महत्या

मुस्लिम युवक की कस्टोडियल डेथ मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस का अजीबोगरीब तर्क, जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर आत्महत्या की, कांग्रेस बोली- क्या युवक की लंबाई 1-2 फीट थी

Updated: Nov 10, 2021, 04:32 PM IST

UP: पुलिस हिरासत में मुस्लिम युवक की मौत, पुलिस का तर्क- टोंटी से लटककर की आत्महत्या

कासगंज। उत्तरप्रदेश के कासगंज में एक मुस्लिम युवक की पुलिस हिरासत में मौत हो गई। मामले में पुलिस के दावों पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। पुलिस का कहना है कि युवक ने टॉयलेट के नल से लटककर आत्महत्या कर ली। मामले पर कांग्रेस ने पूछा है कि क्या युवक की लंबाई 1-2 फीट ही थी?

जानकारी के मुताबिक अल्ताफ पिता चाहत मियां कासगंज में टाइल्स लगाने का काम करता था। अल्ताफ ने हाल ही में एक घर में टाइल लगाया था और घर की लड़की गायब हो गई। परिजनों ने अल्ताफ पर आरोप लगाया कि उसने ही लड़की को भगाया है। कासगंज सदर पुलिस बीते 8 नवंबर को अल्ताफ को उठाकर ले गई। इसके अगले दिन यानी 9 नवंबर को अल्ताफ की मौत की खबर आई।

यह भी पढ़ें: स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट, जस्ट डायल पर लगा जिस्मफरोशी को बढ़ावा देने का आरोप

कासगंज एसपी रोहन पी बोत्तरे के मुताबिक पुलिस पूछताछ के लिए अल्ताफ को कोतवाली थाने लेकर आई थी। पूछताछ के दौरान अल्ताफ ने टॉयलेट जाने की इच्छा जताई जिसके बाद उसे हवालात में बने टॉयलेट में जाने दिया गया। एसपी के मुताबिक टॉयलेट के भीतर जाकर अल्ताफ ने अपनी जैकेट की हुड यानी टोपी से लगी रस्सी को निकाली। और नल में रस्सी को लगाकर अपना गला घोंट लिया। काफी देर तक जब वह बाहर नहीं आया तो पुलिसकर्मी भीतर गए जहां वह अचेत अवस्था में पड़ा था।

पुलिसकर्मी उसे लेकर सीएचसी अशोकनगर कासगंज लेकर गए जहां उसकी मौत हो गई। एसपी रोहन पी बोत्तरे ने यह भी कहा है कि इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। पुलिस की इस कहानी पर लोगों को विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने पूछा है कि थाने की बाथरूम में लगी नल की टोंटी से लटककर कोई आत्महत्या कैसे कर सकता है उप्र पुलिस? क्या आरोपी की लंबाई 1-2 फ़ीट थी? 

पुलिस की थ्योरी पर इसलिए सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि नल की ऊंचाई महज दो फीट थी। ऐसे में करीब साढ़े 5 फीट का आदमी उसमें फांसी नहीं लगा सकता है। हालांकि, पुलिस इस मामले को फांसी न बताकर गला घोंटकर आत्महत्या करने की बात कह रही है। अब फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स ही बात सकते हैं कि कोई युवक नल और जैकेट की रस्सी से आत्महत्या कैसे कर सकता है? मीडियाकर्मी जब उस टॉयलेट में गए तो वहां सिर्फ एक नल लगा हुआ है जो प्लास्टिक का है। नल देखने से प्रतीत होता है कि थोड़ा भी दबाव होने पर आसानी से टूट जाएगा। 

मामले पर मृतक अल्ताफ के पिता ने साफतौर पर कहा है कि उनके बेटे की हत्या की गई। चाहत मियां का कहना है कि उन्होंने खुद पूछताछ के लिए अपने बेटे को पुलिस को सौंपा था। लेकिन जब वे दोबारा  चौकी पर गए तो पुलिस वालों ने उन्हें डांटकर भगा दिया और अगले दिन उन्हें बताया गया कि अल्ताफ ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। चाहत मियां का आरोप है कि पुलिस वालों ने खुद अल्ताफ का गला घोंटकर उसे मार डाला।