स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट, जस्ट डायल पर लगा जिस्मफरोशी को बढ़ावा देने का आरोप

दिल्ली महिला आयोग की इंक्वायरी में स्पा सेंटर्स भेजने लगे कॉल गर्ल्स के सर्विस चार्ज, आयोग ने मांगा स्पा का विवरण तो मिले देशी-विदेशी लड़कियों के नाइट चार्ज

Updated: Nov 10, 2021, 11:03 AM IST

स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट, जस्ट डायल पर लगा जिस्मफरोशी को बढ़ावा देने का आरोप
Photo Courtesy: India Today

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्पा की आड़ में सेक्स रैकेट के संचालन का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बार इंटरनेट कंपनी जस्ट डायल पर जिस्मफरोशी को बढ़ावा देने का आरोप लगा है। दिल्ली महिला आयोग ने क्राइम ब्रांच को नोटिस जारी किया है साथ ही जस्ट डायल मैनेजमेंट को भी समन भेजा है।

दरअसल, दिल्ली महिला आयोग को सेक्स रैकेट से जुड़ी कई शिकायतें मिली थी। महिला आयोग ने एक टीम गठित कर जब जांच की तो इसके सुबूत भी मिले। आयोग की टीम ने जस्ट डायल के माध्यम से जब स्पा सेंटर्स से संपर्क किया तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। स्पा सेंटर से इंक्वायरी मांगने के 24 घंटे के भीतर 15 कॉल और 32 वॉट्सऐप मैसेज प्राप्त हुए।

यह भी पढ़ें: जोधपुर में तेज रफ्तार ऑडी का कहर, झोपड़ियों को रौंद डाला, तीन लोगों की दर्दनाक मौत

इन वॉट्सऐप संदेशों में 150 से अधिक लड़कियों की तस्वीरें और उनकी सर्विस रेट बताई गई थी। मसलन एक मैसेज में लिखा था की, 'एक शॉट का रेट आपको 2500 लगेगा। पूरी रात का रेट आपको 7000 लगेगा। गुड सर्विस मिलेगी। सर सर्विस में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी।' एक अन्य मैसेज में 14 युवतियों की तस्वीरें भेजी गई थी और लिखा था कि नाइट 6500 रुपये होगा, लड़की देखने के बाद पैसे देना।

इसी तरह के शर्मनाक ऑफर्स अन्य मैसेज में भी दिए गए थे, जिससे साफ पता चलता है कि स्पा सेंटर से सर्विस का विवरण मांगने पर खुद ही वे पेड सेक्स की सेवाओं के डिटेल्स भेजते हैं। यानी स्पा सेंटर सिर्फ नाम के लिए है लेकिन काम खुले तौर पर अवैध प्रॉस्टिट्यूशन का होता है। महिला आयोग ने इन वॉट्सऐप मैसेज का स्क्रीनशॉट्स क्राइम ब्रांच से साझा किया है।

यह भी पढ़ें: हमीदिया अस्पताल कांड में बाल आयोग का स्वतः संज्ञान, मुख्य सचिव को दिए जांच समिति गठित करने के निर्देश

मामले की गंभीरता को देखते हुए महिला आयोग ने दिल्ली क्राइम ब्रांच को नोटिस जारी कर 12 नवंबर तक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने जस्ट डायल से सभी रजिस्टर्ड स्पा की सूची और उनके रजिस्ट्रेशन में लागू मानकों की जानकारी मांगा है। आयोग ने कंपनी जस्ट डायल से विशेष रूप से उस स्पा की जानकारी मांगी हैं, जिसने सेक्स सर्विस के मेसेज भेजे। आयोग ने यह भी पूछा है कि कंपनी अपनी साइट पर स्पा सेंटर्स की लिस्टिंग के लिए कितने पैसे लेती है।