अपने विश्वासघात को सही क्यों ठहरा रहे हैं, जयराम रमेश ने आजाद के बयानों पर किया पलटवार

जयराम रमेश ने कहा कि आखिर क्यों हर मिनट आजाद अपने विश्वासघात को सही ठहरा रहे हैं? उन्हें आसानी से बेनकाब किया जा सकता है, लेकिन हम अपना स्तर क्यों गिराएं?

Updated: Aug 29, 2022, 04:28 PM IST

अपने विश्वासघात को सही क्यों ठहरा रहे हैं, जयराम रमेश ने आजाद के बयानों पर किया पलटवार
Photo Courtesy: Mint

नई दिल्ली। कांग्रेस से इस्तीफे के बाद गुलाम नबी आजाद खुलकर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ बोल रहे हैं। राहुल गांधी समेत जयराम रमेश पर उन्होंने तीखे हमले किए हैं। अब आजाद के बयान पर जयराम रमेश ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि यह उनका स्तर और गिरा रहा है।

जयराम रमेश ने ट्वीट किया, 'आज़ाद वर्षों तक जिस पार्टी में रहे। जहां उन्हें सब कुछ मिला। उन्हें उसी पार्टी को बदनाम करने का काम सौंपा गया है। यह उनके स्तर को और गिरा रहा है। आखिर क्यों हर मिनट वह अपने विश्वासघात को सही ठहरा रहे हैं? उन्हें आसानी से बेनकाब किया जा सकता है, लेकिन हम अपना स्तर क्यों गिराएं?'

इससे पहले जयराम रमेश ने कहा था कि गुलाम नबी आजाद का डीएनए मोदीफाइड हो गया है। उनका रिमोट पीएम मोदी के हाथ में है। इस आरोप के जवाब में गुलाम नबी आजाद ने सोमवार जयराम रमेश का बिना नाम लिए जोरदार हमला बोला। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जो डीएनए की बात करता है खुद कांग्रेस पार्टी का मेंबर नहीं। कैसे राज्यसभा पहुंचे।

आजाद ने आगे कहा कि, '96-97 में वो किस सरकार के लिए काम करते थे। हमारी सरकार में नहीं थे। उनका डीएनए चेक कराओ कि किस किस पार्टी में उनका डीएनए है। वो हाउस में बैठ कर बीजेपी को स्लिप पास करता था। उधर से स्लिप आती थी। यह सब मैंने देखा है। 100 स्लिप का एक्सचेंज हुआ होगा। चापलूसी करके या ट्वीट करने के लिए पद मिला है। वो हमारा डीएनए चेक कर रहा है।'