World Elephant Day: पेंशन पर जीवनयापन कर रहा है बुजुर्ग हाथी

elephant day 2020: चाय बागान में पुरानी झाड़ियों को उखाड़ने का काम किया करता था बिजुली प्रसाद

Updated: Aug 13, 2020 04:41 AM IST

World Elephant Day: पेंशन पर जीवनयापन कर रहा है बुजुर्ग हाथी
twitter image

दुनियाभर में बुधवार यानी 12 अगस्त को हाथी दिवस मनाया जा रहा है। ऐसे में आज हम आपके लिए एशिया के सबसे वृद्ध हाथी की कहानी लेकर आए हैं। इस हाथी का नाम बिजुली प्रसाद है जिसकी उम्र 86 वर्ष है। माना जाता है कि यह दुनिया का सबसे वृद्ध एशियाई हाथी है। 

बिजुली प्रसाद अपने जीवन का आखिरी पड़ाव असम के चाय बगान में व्यतीत कर रहा हैं। एनडीटीवी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक बिजुली को साल 1968 में बोरगैंग टी कंपनी ने खरीदा था। बिजुली प्रसाद का काम चाय बागान में पुरानी झाड़ियों को उखाड़ने का था। इस हाथी को बोरगैंग टी कंपनी ने बाकायदा नियमित वेतन पर रखा था। काम के दौरान कंपनी बिजुली के वेतन से कुछ पैसे काट लेती थी और उसे मात्र भोजन और दवा के लिए भुगतान किया जाता था।

उम्र बढ़ने के साथ बिजुली अपने काम से रिटायर हो गया है। इस दौरान वह अब अपने पेंशन के पैसों से जीवन यापन करता है। रिटायर होने के बाद उद्यान प्रबंधन ने बिहाली टी एस्टेट, जहां बिजुली रहता है, वहां उसकी देखभाल के लिए दो लोगों को नियुक्त किया है। बिजुली दिनभर में तीन बार भोजन करता है जिसमें वह 25 किलो चावल, चना और गुड का सेवन करता है। फिलहाल बिजुली का वजन तकरीबन 4 क्विंटल है। बिजुली के स्वास्थ्य और वजन की जांच के लिए हर हफ्ते डॉक्टर भी आते हैं।