MP Congress : कांग्रेस नेताओं के फोन टैप करा रही है BJP सरकार

मध्य प्रदेश BJP सरकार के 100 दिन पूरे होने पर कांग्रेस ने मनाया काला दिवस, कहा अलोकतांत्रिक तरीके से बनी सरकार जासूसी करवा रही है

Publish: Jul 01, 2020 01:46 AM IST

MP Congress : कांग्रेस नेताओं के फोन टैप करा रही है BJP सरकार

प्रदेश की शिवराज सरकार ने 28 जून को सौ दिन पूरे किए। कांग्रेस ने बीजेपी द्वारा अलोकतांत्रिक तरह से कांग्रेस की सरकार गिराने के खिलाफ आज काला दिवस मनाया। इस दौरान पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए विधायक और कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्‍यक्ष जीतू पटवारी ने आरोप लगाया कि पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ सहित कांग्रेस के तमाम बड़े नेताओं के फोन टैप कराए जा रहे हैं। भाजपा सरकार द्वारा कमल नाथ के संपर्क में आने वाले सभी नेताओं की जासूसी करवाई जा रही है।

कांग्रेस की प्रेस वार्ता में पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के साथ विधायक सज्जन सिंह वर्मा, पीसी शर्मा और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति मौजूद थे। प्रेस वार्ता में पूर्व मंत्री और विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार लगातार जन हितैषी काम किए जा रही थी। यह बीजेपी को रास नहीं आया। उसे इसी बात का डर था कि अगर कांग्रेस ने पांच साल सरकार चला ली तो प्रदेश में बीजेपी के लिए सत्ता में वापसी करना दूर की कौड़ी साबित हो जाएगी। इसलिए भाजपा ने सत्ता में वापसी करने के लिए लोकतंत्र तक की हत्या करना मुनासिब समझा।

पूर्व मंत्री सज्‍जन सिंह वर्मा ने हाल ही में शिवराज सिंह के वायरल ऑडियो व वीडियो का हवाला देकर बताया कि तीन राज्यों में एक साथ कांग्रेस द्वारा उखाड़ फेंके जाने से बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व बड़ी चिंता में पड़ गया। जिसके बाद से ही इन्होने राज्य की कांग्रेस सरकार के खिलाफ साजिशें करनी शुरू कर दी थीं। बीजेपी ने एक सोची समझी रणनीति के तहत राज्य की कांग्रेस सरकार गिरा दी। वर्मा ने बिना नाम लिए सिंधिया पर हमला बोलते हुए कहा कि हमारी सरकार गिराने में मदद उस परिवार के व्यक्ति ने की जिसका इतिहास ही गद्दारी का रहा है।

बीजेपी सरकार के सभी फैसले असंवैधानिक

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बीजेपी सरकार के तमाम फैसलों को असंवैधानिक करार दिया है। जीतू पटवारी ने बीजेपी द्वारा मंत्रिमंडल का विस्तार न किए जाने से राज्य सरकार द्वारा लिए जा रहे सभी फैसलों को असंवैधानिक करार दिया है। दरसअल, संविधान की धारा 164 1 (अ) के तहत किसी भी राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्रियों की संख्या विधानसभा में विधायकों की कुल संख्या की कम से कम 12 फीसदी होनी चाहिए। लेकिन इस समय शिवराज सरकार में मुख्यमंत्री समेत केवल 6 मंत्री हैं, ऐसे में कांग्रेस का आरोप है कि सरकार द्वारा लिए गए तमाम फैसले असंवैधानिक हैं।

प्रदेश में कोरोना फैलने की ज़िम्मेदार है बीजेपी

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एन प्रजापति ने कहा कि प्रदेश में कोरोना फैलने की ज़िम्मेदार कोई और नहीं राज्य की बीजेपी सरकार है। प्रजापति ने कहा कि जब राज्य और देश में कोरोना की सुगबुगाहट शुरू हुई तो मैंने विधानसभा के सत्र को दस दिनों के लिए स्थगित करने का ऐलान किया था। लेकिन तब बीजेपी के तमाम विधायक मेरा मखौल उड़ा रहे थे। बीजेपी के लिए उस समय भी प्रदेश की जनता के हित की तुलना में सत्ता की लोलुपता सर्वोपरि थी। आज प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो चुका है, हज़ारों लोग इस बीमारी के संक्रमण की चपेट में हैं। इन सबकी ज़िम्मेदार बीजेपी है।

चीन से अपने रिश्ते के बारे में बताएं शिवराज 

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शिवराज सिंह चौहान के 2016 में पांच दिवसीय चीनी दौरे के का हवाला देते हुए चीन के साथ उनके रिश्तों पर गंभीर प्रश्न उठाया। पीसी शर्मा ने शिवराज से उनके ट्वीट के ऊपर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा जिसमें उन्होंने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की शान में कसीदे पढ़ते हुए चीन और बीजेपी में गहरी समानता बताई थी।

उपचुनाव में जनता बीजेपी को जवाब देगी

प्रेस वार्ता में शामिल तमाम नेताओं ने एक स्वर में कहा कि 24 सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनावों में जनता बीजेपी के इस नृशंस कृत्य का मुंह तोड़ जवाब देगी। और कांग्रेस पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करेगी।