36 साल बाद वर्ल्ड चैंपियन बना अर्जेंटीना, फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में हराया, पेरिस में भड़का दंगा

FIFA World Cup 2022 Final: फ्रांस की हार से भड़के फैंस, पेरिस व अन्य शहरों में भड़का दंगा, रोमांचक मैच में हुई फ्रांस की हार

Updated: Dec 19, 2022, 09:15 AM IST

36 साल बाद वर्ल्ड चैंपियन बना अर्जेंटीना, फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में हराया, पेरिस में भड़का दंगा

दोहा। कतर में फीफा वर्ल्ड कप 2022 के फाइनल में अर्जेंटीना की टीम पेनल्टी शूटआउट में डिफेंडिंग चैंपियन फ्रांस को हराकर 36 साल बाद विश्व चैंपियन बनी। इसी के साथ अपना आखिरी विश्व कप खेल रहे लियोनेल मेसी का वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना भी पूरा हुआ। अर्जेंटीना ने 36 साल बाद वर्ल्ड कप जीता है। इससे पहले उसे 36 साल पहले 1986 में खिताबी कामयाबी मिली थी। अर्जेंटीना का यह ओवरऑल तीसरा खिताब है।

अर्जेंटीना ने रविवार को खेले गए फीफा वर्ल्ड कप फाइनल में फ्रांस को पेनल्टी शूट आउट में 4-2 से हराया। तय 90 मिनट तक दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर रही थी। एक्स्ट्रा टाइम के बाद भी मुकाबला 3-3 की बराबरी पर ही रहा था। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट से फैसला हुआ। फाइनल में मेसी ने दो गोल किए। वहीं, फ्रांस के लिए किलियन एमबाप्पे ने हैट्रिक जमाई। 1994 और 2006 के बाद तीसरी बार फीफा वर्ल्ड कप फाइनल का नतीजा पेनल्टी शूटआउट से निकला है।

एम्बाप्पे को मिला गोल्डन बूट

फाइनल में 3 गोल के साथ एम्बाप्पे के इस वर्ल्ड कप में 8 गोल हो गए। उन्हें टूर्नामेंट का गोल्डन बूट अवॉर्ड मिला। उनके बाद अर्जेंटीना के लियोनल मेसी ने टूर्नामेंट में 7 गोल दागे। मेसी ने टूर्नामेंट में 3 असिस्ट भी किए। अपनी टीम को जिताने वाले मेसी को इस प्रदर्शन के लिए गोल्डन बॉल अवॉर्ड दिया गया। यह अवॉर्ड प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट को दिया जाता है। अर्जेंटीना के ही गोलकीपर एमिलियो मार्टीनेज को गोल्डन ग्लव्स अवॉर्ड मिला। वहीं, एंजो फर्नांडेज को यंग प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड मिला।

पेरिस में भड़का दंगा

अर्जेंटीना के हाथों नजदीकी हार के बाद फ्रांस में फुटबॉल प्रशंसकों ने जमकर उपद्रव किया। ल्योन, नीस और राजधानी पेरिस की सड़कों पर उतरे फुटबॉल फैंस ने तोड़फोड़ और आगजनी की। पुलिस के साथ लोगों की झड़पें हुईं। उपद्रवियों को काबू करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। फाइनल मैच देखने के लिए फ्रांस के फुटबॉल प्रशंसक बार और रेस्तरां में एकत्रित हुए थे, क्योंकि पेरिस और कई अन्य शहरों ने मैच के प्रसारण के लिए आउटडोर स्क्रीन स्थापित करने से मना कर दिया था। फिलहाल पेरिस में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।