सीएम भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, 18 से 44 साल के सामाजिक, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को टीकाकरण में प्राथमिकता की मांग

1 मई से होने वाले वैक्सीनेशन के लिए समय पर डोज की मांग, कहा वैक्सीन निर्माण में अन्य कंपनियों की भी ली जाए मदद ताकि समय पर आपूर्ति हो सके सुनिश्चित, 50 लाख डोज की मांग पर कंपनी दे रही केवल 3 लाख डोज

Updated: Apr 30, 2021, 11:26 AM IST

सीएम भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, 18 से 44 साल के सामाजिक, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को टीकाकरण में प्राथमिकता की मांग
Photo courtesy: New Indian Express

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश के सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को कोरोना वैक्सीनेशन में पहली प्राथमिकता मिलना चाहिए। आगामी शनिवार याने 1 मई से शुरु होने वाले 18 साल से ऊपर वालों के वैक्सीन ने लिए मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से समय पर वैक्सीन उपलब्ध करवाने की मांग की है।

प्रदेश ने 50 लाख डोज का आर्डर दिया है जिस पर एक कंपनी द्वारा 3 लाख डोज देने की बात मई महीने में कही  गई है। मुख्यमंत्री का कहना है कि बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। लेकिन उसके अनुसार वैक्सीन नहीं होने की वजह से टीकाकरण में परेशानी आएगी।

उन्होंने मांग की है ऐसी परिस्थिति में कोरोना टीके की कमी के मद्देनजर भारत सरकार द्वारा टीकाकरण के लिए इस आयु वर्ग में प्राथमिकता का कोई क्रम निर्धारित किया जाना चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया है कि इस क्रम में सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सर्वोच्च प्राथमिकता मिलनी चाहिए।

वहीं उन्होंने आशंका जताई है कि सिर्फ ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की वजह से यह वर्ग के वैक्सीनेशन से वंचित रह सकता है।

सीएम भूपेश बघेल ने पत्र में इस बात का भी जिक्र किया है कि भारत सरकार की गाइड लाइन के हिसाब से प्रदेश में भी 28 अप्रैल से कोविन पोर्टल पर 18 से 44 साल के लोगों की का रजिस्ट्रेशन शुरु हो गया है। गौरतलब है कि अब तक देश भर में 18 से 44 साल के लगभग 1.7 करोड़ लोगों ने वैक्सीनेशन के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है।

और पढ़ें: छत्तीसगढ़ सरकार ने 50 लाख कोरोना वैक्सीन का ऑर्डर दिया, 250 करोड़ की आएगी लागत

इस आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए प्रदेश की ओऱ से दोनों वैक्सीन निर्माताओं को कोविशील्ड और कोवैक्सीन की 25-25 लाख खुराक की मांग की गई थी।

जिसमें भारत बायोटैक मे केवल तीन लाख खुराक मई में देने की बात कही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुझाव देते हुए कहा है कि केंद्र सरकार टीकाकरण को लेकर अपनी इच्छा शक्ति का प्रदर्शन करे। देश की अन्य कंपनियों में भी इन टीकों के उत्पादन करवाने की व्यवस्था करे। जिससे देश के हर नागरिक की कोरोना से सुरक्षा हो सके।पिछले 24 घंटों में राज्य में 15 हजार 804 नए कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हुई है। 16 हजार 489 लोग रिकवर हुए हैं। अब प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 17 हजार 910 हो चुकी है।