खैरागढ़ बना छत्तीसगढ़ का 33वां जिला, गजट नोटिफिकेशन जारी, सीएम बघेल ने पूरा किया वादा

सोमवार देर शाम राजनांदगांव जिले का विभाजन कर 'खैरागढ़-छुईखदान-गंडई' जिला बनाने की प्रारंभिक अधिसूचना राजपत्र में प्रकाशित की गई है

Updated: Apr 19, 2022, 10:46 AM IST

खैरागढ़ बना छत्तीसगढ़ का 33वां जिला, गजट नोटिफिकेशन जारी, सीएम बघेल ने पूरा किया वादा

खैरागढ़। छत्तीसगढ़ सरकार ने सोमवार देर शाम राजनांदगांव जिले का विभाजन कर 'खैरागढ़-छुईखदान-गंडई' जिला बनाने की प्रारंभिक अधिसूचना राजपत्र में प्रकाशित करा दी है। इसी के साथ खैरागढ़ अब छत्तीसगढ़ का 33वां जिला बन चुका है। सीएम भूपेश बघेल ने विधानसभा चुनाव नतीजे सामने आते ही खैरागढ़ को जिला बनाने का ऐलान कर दिया था।

दरअसल,  कांग्रेस ने 31 मार्च को खैरागढ़ विधानसभा उप चुनाव का घोषणापत्र जारी कर नए जिले का वादा किया था। 16 अप्रैल को कांग्रेस की जीत के तत्काल बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिला गठन की घोषणा की। दो दिन बाद ही राजपत्र में इसकी अधिसूचना का प्रकाशन भी हो गया। नए जिले के गठन के लिए रविवार को भी मंत्रालय खुला और प्रस्तावित ड्राफ्ट को आधिकारिक स्वरूप देने का काम हुआ। 

यह भी पढ़ें: हिंदुओं हथियार उठा लो, सरकार कब तक बुलडोजर चलाएगी, धीरेंद्र महाराज के उन्मादी प्रवचन पर FIR की मांग

अधिसूचना में कहा गया है की राजनांदगांव जिले के उपखण्ड खैरागढ़ एवं छुईखदान तथा तहसील खैरागढ़, गंडई और छुईखदान को मिलाकर नए जिले खैरागढ़-छुईखदान-गंडई का सृजन होगा। इस नए जिले के उत्तर में कबीरधाम जिला, दक्षिण में राजनांदगांव की डोंगरगढ़ तहसील, पूर्व में बेमेतरा जिले की साजा और दुर्ग जिले की धमधा तहसील आएगी। खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले की पश्चिमी सीमा पर मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले की लांजी तहसील होगी।

इस अधिसूचना के प्रकाशन के साथ ही आपत्तियां या सुझाव भी मंगाए गए हैं। यह आपत्तियां और सुझाव लिखित रूप में सचिव छत्तीसगढ़ शासन राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग, मंत्रालय महानदी भवन नवा रायपुर को 60 दिनों के भीतर भेजने होंगे। राजपत्र में प्रकाशन के 60 दिनों की समाप्ति के बाद प्रस्ताव पर विचार होगा। राजनांदगांव जिला प्रशासन ने जालबांधा गांव में उप तहसील कार्यालय शुरू कर दिया है। कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा ने नायब तहसीलदार रश्मि दुबे को नई उप तहसील जालबांधा में तैनात कर दिया है।