कोरोना वैक्सीन के बूस्टर डोज के नाम पर ऑनलाइन ठगी, बुजुर्ग को लगा हजारों का चूना

कोरोना वैक्सीन की एहतियाती खुराक के नाम पर पूछा आधार और पैन कार्ड नंबर, मोबाइल पर आया ओटीपी नंबर पूछकर बैंक से पार किए 30 हजार रुपए

Updated: Jan 17, 2022, 11:51 AM IST

कोरोना वैक्सीन के बूस्टर डोज के नाम पर ऑनलाइन ठगी, बुजुर्ग को लगा हजारों का चूना
Photo Courtesy: Jagran

रायपुर। देश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में भी कोरोना वैक्सीन का बूस्टर डोज लगाने का काम तेजी से जारी है।इस कड़ी में किशोरों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज और फ्रंटलाइन वर्कर्स और सीनियर सिटिजंस को तीसरी खुराक के तौर पर बूस्टर डोज दी जा रही है। बूस्टर डोज रजिस्ट्रेशन के नाम पर भोले-भाले बुजुर्गों से ठगी क  मामला सामने आया है। साइबर अपराधी लोगों को बूस्टर डोज लगवाने के नाम पर बैंक खातों में सेंध लगाने का काम कर रहे हैं। जिसके बाद अब पुलिस और स्वाथ्य विभाग के ऑफिसर भी लोगों को इस बारे में जागरूक करने में जुटे हैं।

बलोदाबाजार के 70 साल के बुजुर्ग के खाते से 30 हजार रुपए के फ्रॉड का मामला सामने आया है। फरिदादी का कहना है कि उन्हें कोरोना वैक्सीन की तीसरी खुराक देने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए फोन आया था। अरोपी ने उनसे उनका आधार कार्ड नबंर और पैन कार्ड का नंबर पूछा, और कहा कि आपका रजिस्ट्रेशन हो गया है। आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा वह हमें बता दीजिए। जैसे ही बुजुर्ग ने वह ओटीपी बताया उनके खाते से 30 हजार रुपए कट गए। जब बुजर्ग को इसबारे में पता चला तब उन्होंने इसकी शिकायत दर्ज करवाई।

और पढ़ें: दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज को क्यों दिया अल्टीमेटम

मामला सामने आने पर पुलिस ने लोगों को आगाह किया है कि  अनजान नंबर से आए किसी मैसेज का आंसर नहीं करें। किसी को भी अपना CVV, और OTP या क्रेडिट कार्ड का नंबर ना बताएं। वहीं लोगों को सलाह दी गई है कि कोरोना का बूस्टर डोज लगवाने के लिए कोई एप डाउनलोड न करें। तीसरी खुराक लेने के लिए लोगों को कोविन पर रजिस्ट्रेशन यी फिर सीधे वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्सीन लेने की सलाह दी गई है।