नरसिंहपुर में हाईटेंशन बिजली लाइन से आठ एकड़ गन्ने की फसल खाक, किसान को पांच लाख रुपए का नुकसान

आठ एकड़ खेत बटाई पर लेकर किसान ने लगाई थी गन्ने की फसल, पूरी तरह पक चुके थे गन्ने, बिजली लाइन से छूकर पकड़ी आग, समय पर नहीं पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम।

Updated: Dec 24, 2022, 03:47 PM IST

नरसिंहपुर में हाईटेंशन बिजली लाइन से आठ एकड़ गन्ने की फसल खाक, किसान को पांच लाख रुपए का नुकसान

नरसिंहपुर। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में हाईटेंशन बिजली की लाइन के चपेट में आकर आठ एकड़ खेत में लगी गन्ने की फसल खाक हो गई। शुक्रवार दोपहर हुई इस घटना में बटाई पर जमीन लेकर खेती करने वाले किसान को लाखों का नुकसान हुआ।

मामला नरसिंहपुर जिले के गोटेगांव विकासखंड अंतर्गत मुंगवानी थाना क्षेत्र के बरहटा गांव का है। बरहटा निवासी किसान सुरेंद्र पटेल ने सिकमी में भूमि के मालिक से खेत लिया था और लगभग आठ एकड़ में गन्ने की फसल लगाई थी। खेत में लगे गन्ने पूरी तरह पक चुके थे और लहलहा रहे थे। गन्नों की ऊंचाई अधिक थी और खेत के ऊपर से 33केवी हाइटेंशन बिजली लाइन गुजरी है। 

जानकारी के मुताबिक बिजली लाइन भी नीचे झूल रही थी। गन्ना से टकराने पर हाइटेंशन लाइन से निकली चिंगारी से गन्ने में आग पकड़ ली। देखते ही देखते यह आग कई एकड़ में फैल गई। पीड़ित किसान सुरेंद्र सिंह पटेल ने बताया कि उन्हें ग्रामवासियों ने आग लगने की सूचना दी थी। उस वक्त वह दूसरे खेत में काम कर रहा था। उन्होंने मौके पर आकर डायल 100 के माध्यम से पुलिस को सूचना दी। 

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने दमकल कर्मियों को फोन किया। लेकिन जबतक दमकलकर्मी पहुंचते आठ एकड़ में लगी फसल खाक हो चुकी थी। ग्रामीणों ने बताया कि गन्ने की फसल के ऊपर से 33 केवी बिजली की हाइटेंशन लाइन निकली है। गन्ना की ऊंचाई अधिक होने से तार गन्ना से टकरा गए जिसके कारण तारों से तेज आवाज के साथ चिंगारी फसल में गिरी। आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे जहां आग लगी हुई थी और आनन-फानन में अपने स्तर पर ग्रामीणों ने आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन आग इतनी तेज थी कि वे बुझा नहीं सके। 

गन्ने की फसल की पत्ती सूखी होने के कारण पूरा 8 एकड़ गन्ना जल गया। पीड़ित किसान सुरेंद्र पटेल ने बताया कि उसकी आठ एकड़ में लगी फसल जलने से लगभग पांच लाख से अधिक का नुकसान हुआ है। जिसकी शिकायत पर मुंगवानी थाना पुलिस सहित राजस्व विभाग से पटवारी मौके पर पहुंचे हैं और जांच की जा रही है।