CBSE-ICSE Exams : एवरेज मार्किंग से रिजल्‍ट 15 जुलाई तक

कोर्ट से अनुमति के बाद सीबीएसई ने रद्द परीक्षाओं के सिलसिले जारी की अधिसूचना

Publish: Jun 26, 2020 08:52 PM IST

CBSE-ICSE Exams : एवरेज मार्किंग से रिजल्‍ट 15 जुलाई तक
Photo courtesy : times of india

सीबीएसई ने आज सर्वोच्च न्यायालय में दसवीं और बारहवीं की रद्द की गई परीक्षाओं के सिलसिले में हलफनामा दायर किया। अपने हलफनामे में सीबीएसई ने रद्द परीक्षाओं के मूल्यांकन और परिणाम जारी करने की योजना के बारे में बताया है। एम खानविलकर की अध्यक्षता वाली तीन सदस्य बेंच ने सीबीएसई को अधिसूचना जारी करने की अनुमति दे दी।

कल सुप्रीम कोर्ट में सीबीएसई ने स्थगित परीक्षाओं के आयोजन पर रोक लगाते हुए, सभी बची हुई परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला लिया था। हालांकि 12 वीं के छात्रों को परीक्षा देने का विकल्प दिया जाएगा। दसवीं और बारहवीं के परिणाम 15 जुलाई से पहले घोषित होने की संभावना जताई जा रही है। कल सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अदालत को बताया था कि चूंकि सितम्बर से स्कूल और कॉलेज के नए सत्र शुरू होने हैं, ऐसे में दसवीं और बारहवीं के परिणाम 15 जुलाई से पहले घोषित कर दिए आएंगे।

एवरेज मार्किंग के आधार पर जारी होंगे परिणाम 
सीबीएसई बोर्ड ने अपने हलफनामे में शीर्ष अदालत को बताया कि वो परीक्षाओं के परिणाम एवरेज मार्किंग की स्कीम के आधार पर जारी करेगा। इसके अलावा आईसीएसई बोर्ड के अधिवक्ता जयदीप गुप्ता ने अदालत को बताया कि आईसीएसई बोर्ड भी एवरेज मार्किंग के आधार पर परिणाम जारी करेगा। हालांकि आईसीएसई की एवरेज मार्किंग की स्कीम सीबीएसई से अलग होगी।आईसीएसई ने कोर्ट को यह भी बताया कि वो दसवीं और बारहवीं के परीक्षार्थियों को परिश्थिति के अनुकूल होने पर परीक्षा देने का विकल्प भी देगी।

 

क्या है सीबीएसई की मार्किंग स्कीम ? 
सीबीएसई ने रद्द की गई परीक्षाओं की मूल्यांकन प्रक्रिया को लेकर विस्तृत अधिसूचना जारी की है। इसमें सीबीएसई ने मार्किंग स्कीम के बारे में बताया है।

  • दसवीं बारहवीं के जिन परीक्षार्थियों ने सभी परीक्षाएं दे दी हैं, उनके परिणाम उन्हीं परीक्षाओं में प्राप्त अंक के आधार पर घोषित होंगे। 
  • जो परीक्षार्थी तीन से ज़्यादा विषयों की परीक्षाओं में शामिल हुए हैं, उनके बेस्ट तीन विषयों में प्राप्त अंक की एवरेज मार्किंग के आधार पर उन्हें बचे हुए विषयों में अंक दिए जाएंगे।
  • जो परीक्षार्थी केवल तीन परीक्षाओं में शामिल हुए हैं, उनके बेस्ट दो विषयों में प्रात अंक की एवरेज मार्किंग के आधार पर बचे हुए विषयों में अंक दिए जाएंगे।
  • उत्तर पूर्वी दिल्ली में बारहवीं के कुछ विद्यार्थियों ने केवल एक या दो विषयों की परीक्षाएं दी हैं, ऐसे में उनके परिणाम आंतरिक मूल्यांकन और व्यवहारिक परीक्षाओं के आधार पर जारी किए जाएंगे। लेकिन अगर वो चाहें तो परिणाम में सुधार करने के लिए परीक्षा दे पाएंगे।