नॉर्थ कोरिया में हंसने पर पाबंदी, किम जोंग ने नागरिकों को 11 दिन शोक मनाने का दिया आदेश

उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग ने फरमान जारी किया है कि देश में अगले 11 दिन तक कोई भी खुश नहीं रहेगा, यदि किसी के चेहरे पर खुशी दिखेगी तो उसे सख्त सज़ा दी जाएगी

Updated: Dec 17, 2021, 09:45 PM IST

नॉर्थ कोरिया में हंसने पर पाबंदी, किम जोंग ने नागरिकों को 11 दिन शोक मनाने का दिया आदेश
Photo Courtesy : Quora

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन अपने अपने क्रूर प्रवृति के लिए दुनियाभर में कुख्यात है। इस सनकी तानाशाह ने अब एक अजीबोगरीब फरमान जारी करते हुए देश में लोगों के हंसने रहने पर पाबंदी लगा दिया है। किम जोंग ने कहा है कि सभी नागरिक हर समय उदास रहें। यदि किसी नागरिक के चेहरे पर खुशी दिखेगी तो उसे वैचारिक अपराधी मानते हुए सख्त सजा दी जाएगी।

दरअसल, उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग उन ने अपने पिता व पूर्व तानाशाह किम जोंग इल की 10वीं बरसी बनाने का निर्णय लिया था। इसीलिए यह फरमान जारी किया गया है कि किम जोंग जब अपने मृत पिता की बरसी मना रहे हों तो देश के नागरिकों को भी खुश रहने का कोई अधिकार नहीं है। ऐसे में 11 दिन के लिए राष्ट्रव्यापी शोक घोषित कर लोगों को उदास रहने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें: भीमा कोरेगांव केस: पेगासस स्पाईवेयर से इन्फेक्टेड था एक्टिविस्ट रोना विल्सन का फोन, जांच में खुलासा

जानकारी के मुताबिक किम जोंग उन द्वारा जारी फरमान में कहा गया है कि शोक अवधि के दौरान कोई भी नागरिक हंसने, शराब पीने अथवा अन्य खुशनुमा गतिविधियों में नहीं शामिल हो सकता हैं। यदि कोई शराब पीकर जश्न मनाते हुए पाया जाता है तो उसे मौत की सजा दी जाएगी। आदेश के मुताबिक इन 11 दिनों तक किसी के घर में स्वादिष्ट खाना नहीं बनाया जाएगा, बल्कि नागरिक रूखा-सूखा भोजन करेंगे। 

शोक अवधि के दौरान बाजार से नए कपड़े से लेकर कुछ भी नया सामान खरीदने पर पाबंदी लागू हो गई है। इस दौरान लोग अपना जन्मदिन भी नहीं मना सकते हैं। शोक अवधि के दौरान यदि किसी की मौत होती है तो परिजन ज्यादा चिल्लाकर नहीं रोएंगे, बल्कि उतने ही दुःखी रह सकते हैं, जितना दुखी अन्य नागरिकों को रहने के लिए कहा गया है। इस दौरान कोई अपने काम और नौकरी से छुट्टी नहीं लेगा, सभी लोग काम करेंगे लेकिन चेहरे पर उदासी लेकर।

यह भी पढ़ें: भूटान देगा पीएम मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान, भूटान के पीएम ने की घोषणा

रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस को लोगों पर कड़ी नजर रखने को कहा गया है। ताकि शोक अवधि के दौरान कोई व्यक्ति गमगीन नजर नहीं आता या उसके चेहरे पर थोड़ी भी मुस्कान दिखे तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाए। बताया जाता है कि अतीत में राष्ट्रीय शोक के दौरान शराब पीते या जश्न मनाते पकड़े जाने पर पुलिस कई लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन पुलिस जिन्हें भी नियम उल्लंघन के आरोप में लेकर गई, उन्हें फिर कभी किसी ने नहीं देखा। इससे समझा जा सकता है कि किम जोंग उन्हें दर्दनाक मौत की सजा देता होगा।

बता दें कि क्रूरता एवं तानाशाही के लिए कुख्यात किम जोंग इल ने उत्तर कोरिया पर 1994 से लेकर 2011 तक राज किया। इल की मौत 17 दिसंबर 2011 को 69 साल की उम्र में हार्ट अटैक से हो गई थी। इल के बाद उनके तीसरे और सबसे छोटे बेटे किम जोंग उन ने देश की कमान संभाली। किम जोंग उन ने भी सनक के मामले में अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए देश में क्रूरता और आतंक का माहौल बना रखा है।