रानिल विक्रमसिंघे चुने गए श्रीलंका के नए राष्ट्रपति, 6 बार रह चुके हैं प्रधानमंत्री

राष्ट्रपति की रेस में विक्रमसिंघे का मुकाबला दुल्लास अल्हाप्पेरुमा और अनुरा कुमारा दिसानायके से था, वे नवंबर 2024 तक पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे के शेष कार्यकाल के लिए पद पर रहेंगे।

Updated: Jul 20, 2022, 01:25 PM IST

रानिल विक्रमसिंघे चुने गए श्रीलंका के नए राष्ट्रपति, 6 बार रह चुके हैं प्रधानमंत्री

कोलंबो। श्रीलंका में जारी आर्थिक और सियासी संकट के बीच आज देश के नए राष्ट्रपति का चुनाव हो गया है। रानिल विक्रमसिंघे श्रीलंका के नए राष्ट्रपति चुने गए हैं। विक्रमसिंघे इससे पहले 6 बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं। बीते दिनों सियासी उथल-पुथल के बीच उन्होंने पीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। गोटबाया राजपक्षे के देश छोड़कर भागने के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति की भूमिका निभा रहे थे।

राष्ट्रपति की रेस में विक्रमसिंघे का मुकाबला दुल्लास अल्हाप्पेरुमा और अनुरा कुमारा दिसानायके से था। 223 सदस्‍यों वाली संसद में दो सांसद नदारद रहे और कुल 219 वोट्स वैध करार दिए गए। 4 वोट्स ऐसे थे जिन्‍हें अवैध करार दिया गया। विक्रमसिंघे इससे पहले 6 बार प्रधानमंत्री रहने के अलावा दो बार राष्‍ट्रपति का चुनाव हार भी चुके हैं। हालांकि, अब वे आधिकारिक तौर पर देश के राष्‍ट्रपति बने हैं।

श्रीलंका में बुधवार को हुए नए राष्ट्रपति के चुनाव के लिए राजपक्षे परिवार के दबदबे वाली SLPP पार्टी का समर्थन रानिल विक्रमसिंघे को ही मिला हुआ था। श्रीलंका की 225 सदस्यीय संसद में  SLPP बहुमत में है। विश्लेषकों ने पहले ही बताया था कि नए राष्ट्रपति की  रेस में सबसे आगे रानिल विक्रमसिंघे थे। पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया ने इस्तीफे से पहले अपने उत्तराधिकारी के तौर पर रानिल विक्रमसिंघे को चुना था।

गोटबया की जगह राष्ट्रपति बनने वाला विक्रमसिंघे त्रिपक्षीय मुकाबले में जीत कर एक ऐसे देश का प्रमुख बने हैं जो पहले ही कंगाल हो चुका है। IMF के साथ बेलआउट पैकेज के लिए बात कर रहा है। श्रीलंका में 22 मिलियन लोग खाने, ईंधन और दवाईयों की किल्लत झेल रहे हैं। नए राष्ट्रपति नवंबर 2024 तक पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे के शेष कार्यकाल के लिए पद पर रहेंगे।