पीथमपुर की फैक्ट्री के सेप्टिक टैंक में गिरने से 3 मजदूरों की मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

पीथमपुर के हैट्रिक इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तीन मजदूर सेप्टिक टैंक में गिर गए, कंपनी में नहीं रखा जाता मजदूरों की सुरक्षा का ध्यान, परिजन कर रहे दोषियों पर कार्रवाई की मांग

Updated: Jul 28, 2021, 12:16 PM IST

पीथमपुर की फैक्ट्री के सेप्टिक टैंक में गिरने से 3 मजदूरों की मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप
Photo Courtesy: news 18

धार। पीथमपुर की एक फैक्ट्री के सेप्टिक टैंक में गिरने से तीन मजदूरों की मौत हो गई। हादसा बुधवार सुबह हेटिक इंडिया फर्नीचर फिटिंग कपंनी परिसर में बने सेफ्टिक टैंक में हुआ। यहां पर फर्नीचर निर्माण के लिए उपयोगी प्लाई और दूसरे वुडन आइटम तैयार किए जाते थे। इस फैक्ट्री के सेप्टिक टैंक में गिरे तीनों मजदूरों को बड़ी मशक्कत के बाद निकाला जा सका। तीनों को गंभीर हालत में इंदौर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

मजदूरों की मौत के बाद परिजनों ने फैक्ट्री में हंगामा किया और प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। परिजन मामले के दोषियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। वहीं बार-बार शिकायत के बाद भी मजदूरों की सुरक्षा के इंतजाम नहीं होने से मजदूरों में भी रोष है, तीनों मजदूरों की मौत के बाद फैक्ट्री के अन्य मजदूरों ने हंगामा कर दिया। जिससे वहां अफरा तफरी का माहौल बन गया। बड़ी मशक्कत के बाद स्थिति पर काबू पाया गया।

इस हादसे में मरने वाले मजदूरों की पहचान शैलेंद्र, अरविंद और अनिल के रूप में हुई है। तीनों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए हैं। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। पीथमपुर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस इस बात की पड़ताल में जुटी है कि तीनों मजदूर एक साथ सेफ्टिक टैंक में कैसे गिरे। माना जा रहा है कि एक दूसरे को बचाने के चक्कर में तीनों की जान चली गई। खबर है कि काम के दौरान किसी भी मजदूर ने सुरक्षा उपकरण नहीं पहने थे। वहीं लापरवाही के आरोपी फैक्ट्री प्रबंधन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है, पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।