मध्य प्रदेश में जारी है ज़हरीली शराब का क़हर, छतरपुर में चार लोगों की मौत

एक ही गांव के चार लोगों ने जहरीली शराब पीने के बाद अस्पताल में दम तोड़ा, एक का चल रहा है इलाज

Updated: Feb 15, 2021, 09:24 AM IST

मध्य प्रदेश में जारी है ज़हरीली शराब का क़हर, छतरपुर में चार लोगों की मौत
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

भोपाल। प्रदेश में जहरीली शराब का कहर जारी है। छतरपुर जिले में जहरीली शराब के सेवन से चार लोगों की मौत हो गई है। यह सभी एक ही गांव के थे। एक अन्य व्यक्ति अभी अस्पताल में भर्ती है। उसका इलाज चल रहा है। इस पूरे मामले पर प्रशासन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतज़ार कर रहा है। प्रशासन का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद लोगों के बयान दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में पिछले महीने ही मुरैना में लोग जहरीली शराब का शिकार हुए थे। और सब छतरपुर के मामले ने एक बार फिर कई सवालों को जन्म दे दिया है। 

छतरपुर के हरपालपुर थाने के अंतर्गत आने वाले गांव परेथा निवासी जयराम अहिरवार बुधवार को दिल्ली से लौटा था। बताया जा रहा है कि वह उत्तर प्रदेश के खुरई से शराब लेकर आया था। जयराम ने गांव के कुछ लोगों को शराब और मछली की पार्टी दी थी। पार्टी में शराब का सेवन करने के बाद कुछ लोगों की तबीयत खराब होने लगी। उल्टी दस्त की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती हुए लेकिन चार लोगों ने दम तोड़ दिया। खुद जयराम अहिरवार अभी अस्पताल में भर्ती है, जहां उसका इलाज चल रहा है। 

सबसे पहले शुक्रवार को गांव के हरगोविंद नामक व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। शाम को हरगोविंद का जब अंतिम संस्कार कर परिजन लौटे तो हरगोविंद के पिता शीतल को भी उल्टी दस्त होने लगी। शीतल ने भी दम तोड़ दिया। हरगोविंद के बड़े भाई जयराम अहिरवार को अस्पताल में भर्ती किया गया। वहीं पार्टी में मौजूद रहने वाले लाल बरार और तुलसीदास दोनों ने ही दम तोड़ दिया। 

इस पूरे मामले पर डॉक्टर अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक कुछ भी कहना जल्दबाजी है। जयराम अहिरवार का कहना है कि पार्टी में कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्होंने शराब का सेवन नहीं किया था और सिर्फ मछली खाई थी। जयराम के मुताबिक सिर्फ मछली खाने वाले सभी लोग स्वस्थ हैं। ग्रामीणों का कहना है कि उत्तर प्रदेश से अवैध शराब लाकर गांव में धड़ल्ले से बेची जाती है।