Shivraj Singh जी चिरायु जैसे क्यों नहीं बने सरकारी अस्पताल

भोपाल के चिरायु अस्पताल में हो रहा सीएम सहित VIP मरीजों का इलाज, बीजेपी विधायक अजय विश्नोई और कांग्रेस ने उठाए सवाल

Updated: Jul 29, 2020 09:03 PM IST

Shivraj Singh जी चिरायु जैसे क्यों नहीं बने सरकारी अस्पताल

भोपाल। मध्य प्रदेश और भोपाल में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। संक्रमितों को इलाज और सुविधाएँ न मिलने की शिकायतें आम हो गयीं हैं। भोपाल में गांधी मेडिकल कॉलेज अस्पताल,एम्स समेत कई निजी और सरकारी अस्पतालों के होते हुए कोविड 19 मरीजों के इलाज के लिए चिरायु अस्पताल को चुने जाने पर सवाल उठ रहे हैं। 

सरकारी अस्पतालों के होते हुए निजी अस्पताल में इलाज करवाने को लेकर पूर्व चिकित्सा शिक्षा मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ विधायक अजय विश्नोई ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चिरायु अस्पताल में स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। साथ ही उन्होंने कटाक्ष किया है कि ‘माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है,चिरायु अस्पताल में रहते हुए यह भी देखें कि चिरायु में ऐसा क्या है, जो हम नो लिमिट बजट और सतत मॉनिटरिंग के बाद भी प्रदेश के एक भी शासकीय मेडिकल कॉलेज 4 माह में नहीं बना पाए। अजय विश्नोई ने पूछा है कि क्यों मध्य प्रदेश के सभी वीआईपी चिरायु अस्पताल की शरण में जाने मजबूर हैं।

कांग्रेस ने पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के सवाल का समर्थन किया है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट किया है कि अजय विश्नोई ने ठीक सवाल उठाया है। कांग्रेस ने लिखा है कि क्या कारण है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत सारे वीआईपी चिरायु अस्पताल में कोरोना का इलाज करवाने जा रहे हैं, आख़िर वहां ऐसा क्या है? कांग्रेस ने सवाल किया है कि क्या कारण है कि 15 वर्ष की बीजेपी सरकार के कार्यकाल में एक भी ऐसा शासकीय अस्पताल नहीं बना,कोरोना के इलाज के लिये एक भी सरकारी मेडिकल अस्पताल तैयार नहीं हुआ?

बता दें कि चिरायु अस्पताल में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह समेत बड़ी संख्या में हाईप्रोफाइल लोग पहुंच रहे हैं। जिनमें कई मंत्री विधायक, बिजनेस मैन समेत आईएएस पल्लवी जैन गोविल और हेल्थ कॉरपोरेशन के सीईओ जे. विजय कुमार भी शामिल रहे हैं। सरकार भी अन्य अस्पतालों की जगह चिरायु अस्पताल को प्रमोट करती नजर आ रही है। स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए नरोत्तम मिश्रा ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी चिरायु अस्पताल की खूबियों का बखान वीडियो कॉन्फ्रिंग के जरिए हुई समीक्षा बैठक में किया था।